scorecardresearch
 

पटना के स्टूडेंट को मिली है IIT एंट्रेंस में 33वीं रैंक

जानिए IIT परीक्षा में ऑल इंडिया लेवल पर 33वीं रैंक लाने वाले ईशान तरुणेश अपनी सफलता पर क्या कहते हैं...

X
अपने परिवार के साथ ईशान तरुणेश अपने परिवार के साथ ईशान तरुणेश

बिहार को कभी एक ऐसे राज्य के तौर पर भी जाना जाता था, जहां से बड़े-बड़े ऑफिसर निकल कर आते थे लेकिन बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट ने बिहार के शिक्षा व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी और बिहार से सिर्फ इन दिनों निगेटिव खबरें ही आ रही है. ऐसे में IIT का रिजल्ट बिहार के लिए एक अच्छी खबर लेकर आया है.

पटना के एक स्टूडेंट ईशान तरुणेश ने गुवाहाटी जोन से 1 पहला रैंक हासिल किया है. पूरे देश में उनकी 33वीं रैंक है. ईशान के पिता एक आईपीएस ऑफिसर हैं और फिलहाल बिहार में तिरहुत जोन के इंस्पेक्टर जनरल हैं. उन्होंने पटना से 12वीं की परीक्षा पास की है. इंडिया टुडे से हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि वह हमेशा से इंजीनियर बनना चाहते थे. 9वीं कक्षा से ही उन्होंने इसके लिए कोचिंग लेना शुरू कर दिया था.

ईशान ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा, 'मैं IIT पास करके काफी खुश हूं. टॉप-100 में आने के बारे में तो मैंने सोचा था लेकिन यह नहीं जानता था कि टॉप-50 में मेरा नाम आएगा.'

ईशान अब IIT बॉम्बे के कंप्यूटर साइंस कोर्स में दाखिला लेंगे. इनका सपना विदेश जाकर हायर डिग्री हासिल करने का भी है और वापस अपने देश लौटकर राष्ट्र निर्माण में योगदान देने का है. एक आईपीएस ऑफिसर का बेटा होने के बावजूद ईशान को पुलिस प्रोफेशन ने कभी आकर्षित नहीं किया. इनके पेरेंट्स को भी इनकी सफलता पर काफी गर्व है.

उनके पिता का कहना है, 'मेरे लिए यह काफी गर्व करने वाली बात है कि मेरे बेटे ने टॉप किया है. यह मेरे बेटे की मर्जी है कि वह इंजीनियर बनना चाहता है या ऑफिसर बनना चाहता है. वह गणित में काफी अच्छा है.' वहीं ईशान की मां संध्या का कहना है कि दो साल से IIT पास करने के लिए ईशान काफी मेहनत कर रहे थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें