scorecardresearch
 

नेपाल के भूकंप में तबाह हुई इमारतों से जुड़े फैक्‍ट

नेपाल में आए भूकंप से यहां की कई ऐतिहासिक धरोहरों को नुकसान पहुंचा है. जिसमें 19वीं सदी में बने धरहरा टावर, पाटन दरबार स्‍कावायर, दरबार स्क्वैयर और भक्तपुर दरबार स्क्वैयर शामिल है. इन इमारतों से जुड़े फैक्‍ट:

Kathmandu's Durbar Square and historic Dharahara tower Kathmandu's Durbar Square and historic Dharahara tower

नेपाल में आए भूकंप से यहां की कई ऐतिहासिक धरोहरों को नुकसान पहुंचा है. जिसमें 19वीं सदी में बने धरहरा टावर, पाटन दरबार स्क्वैयर, दरबार स्क्वैयर और भक्तपुर दरबार स्क्वैयर शामिल है. इन इमारतों से जुड़े फैक्‍ट:

 

धरहरा टॉवर :

1. नेपाल की सबसे ऊंचे धराहरा टावर को यहां का कुतुब मीनार भी कहा जाता था, जिसे 25 अप्रैल को आई आपदा ने जमींदोज कर दिया है.
2. इसे 1832 में मुख्‍तियार भीमसेन ने बनवाया था, जो यूनेस्‍को की धरो‍हर सूची में भी शामिल है.
3. इसे मुगल और यूरोपियन स्‍टाइल में डिजाइन किया गया था जो देखने में इस्‍लामिक इमारत जैसा लगता था.
4. इस इमारत में बनी सीढि़या स्‍पायरल आकार में बनी थीं.
5. इमारत की आठंवी मंजिल से काठमांडू के बेहतरीन नजारे देखने को मिलते थे.
6. टॉवर की छत पर कांस्‍य का बना हुआ 5.2 मीटर लंबा मास्‍ट लगा हुआ था.
7. इस टॉवर को खासतौर से सेना के लिए बनाया गया था, जिसके जरिए सेना पहरेदारी किया करती थी.
8. 2005 से इस टॉवर को विजिटर के लिए खोला गया था.

पाटन दरबार स्क्वैयर :
भूकंप में पूरी तरह से तबाह हो चुके पाटन दरबार स्क्वैयर को तीसरी सदी में स्‍थापित किया गया था. इसमें 1200 स्‍मारक और दर्जनों बौद्ध और हिंदू मंदिर बने हुए थे. इसके आर्किटेक्‍चर को पत्‍थरों से की गई बे‍हतरीन कारीगरी के लिए जाना जाता था.

दरबार स्क्वैयर :
काठमांडू के दरबार स्क्वैयर को भी क्षति पहुंची है. यहां 19वीं शताब्दी तक नेपाली राजघराने का आवास था.

भक्तपुर दरबार स्क्वैयर:
नेपाल के भक्तपुर में भूकंप से आधी से ज्‍यादा इमारतें बर्बाद हो चुकी हैं. भक्तपुर नेपाल की राजधानी काठमांडू के पूर्व में स्थित है. यूनेस्‍को की हेरिटेज साइट में इसका नाम भी शामिल है. 1934 में भी भक्तपुर दरबार स्क्वैयर का काफी हिस्‍सा भूकंप से क्षतिग्रस्‍त हो गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें