scorecardresearch
 

UPSC 2020: पहले अटेंप्ट में प्रीलिम्स नहीं निकाल पाईं थीं जागृति, फिर दूसरे प्रयास में ऐसे बनीं AIR 2 टॉपर

IAS topper Jagriti Awasthi: जागृति ने अपने दूसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास की. अपने पहले प्रयास में वह प्रीलिम्स को पास नहीं कर सकी थीं लेकिन उनका दृढ़ संकल्प ऐसा था कि उसने अपने दूसरे प्रयास में शीर्ष पर पहुंच गई. 

X
जागृति अवस्थी (Photo: Irshad) जागृति अवस्थी (Photo: Irshad)

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने आज शुक्रवार को सिविल सर्विसेज 2020 का रिजल्ट जारी कर दिया है. परीक्षा में 761 उम्मीदवार पास हुए हैं.  शुभम कुमार ने टॉप किया है. वहीं, जागृति अवस्थी दूसरे और अंकिता जैन तीसरे स्थान पर रही हैं.  

जागृति अवस्थी ओवरऑल सेकेंड रैंक हासिल करने वाली महिला उम्मीदवारों में टॉपर हैं. उन्होंने MANIT भोपाल से बीटेक (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग) में स्नातक किया है, कुल 761 लोगों का चयन हुआ है. आईएएस टॉपर जागृति अवस्थी का कहना है कि उनकी नजर में निरंतरता ही सफल होने कुंजी है. 

शुक्रवार को जारी यूपीएससी के नतीजों में महिलाओं में पहला स्थान हासिल करने वाली जागृति अवस्थी ने पहले इंजीनियरिंग की, इसके बाद यूपीएससी की तैयारी की और दूसरे अटेम्प्ट में आईएएस परीक्षा टॉप की. जागृति ने यूपीएससी क्वालिफायर में ऑल इंडिया सेकेंड पोजिशन हासिल की है. 

जागृति ने मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर ने दो साल तक भेल भोपाल के साथ एक इंजीनियर के रूप में काम किया. फिर उन्होंने नौकरी छोड़कर सिविल सेवाओं की तैयारी करने का फैसला किया. जागृति कहती हैं कि मैं शुरू में एक इंजीनियर बनना चाहती था. लेकिन फिर एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर के रूप में अपना करियर शुरू किया, लेकिन तब मुझे एहसास हुआ कि मैं कुछ और सार्थक करना चाहती हूं. समाज में अपने छोटे से प्रयास से योगदान देना चाहती थी. मुझे एहसास हुआ कि सिविल सेवाएं इसके लिए सबसे उपयुक्त थीं और इसलिए मैंने आईएएस बनने का फैसला किया. 

माता-पिता के साथ जागृति अवस्थी, UPSC AIR 2 topper
माता-पिता के साथ जागृति अवस्थी, UPSC AIR 2 topper

जागृति ने अपनी सफलता के लिए अपने माता-पिता और भाई को श्रेय देते हुए अपने शिक्षकों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने उसे लक्ष्य हासिल करने में मदद की. जागृति ने अपने दूसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास की. अपने पहले प्रयास में वह प्रीलिम्स को पास नहीं कर सकी थीं लेकिन उसका दृढ़ संकल्प ऐसा था कि उसने अपने दूसरे प्रयास में शीर्ष पर पहुंच गई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें