scorecardresearch
 

बिना वैक्सीन लगाए टीचर्स-स्टाफ को 15 अक्टूबर के बाद दिल्ली के स्कूलों में नहीं मिलेगी एंट्री

Delhi Directorate of Education ने सभी स्कूलों को पत्र भेजकर इसकी जानकारी दी है. कोरोना की गंभीरता का जिक्र करते हुए पत्र में कहा गया है कि जल्द से जल्द सभी टीचर्स और स्टाफ्स वैक्सीन लगवाएं. 

प्रतीकात्मक फोटो (Getty) प्रतीकात्मक फोटो (Getty)

School Reopen: बिना वैक्सीन लगवाए टीचर्स और स्टाफ को 15 अक्टूबर के बाद दिल्ली के स्कूलों में एंट्री नहीं मिलेगी.  द‍िल्ली श‍िक्षा निदेशालय के अनुसार 15 अक्टूबर तक वैक्सीन न लगवाने वाले टीचर्स और स्टाफ्स की Absent या leave में माना जाएगा. Delhi Directorate of Education ने सभी स्कूलों को पत्र भेजकर इसकी जानकारी दी है. कोरोना की गंभीरता का जिक्र करते हुए पत्र में कहा गया है कि जल्द से जल्द सभी टीचर्स और स्टाफ्स वैक्सीन लगवाएं. 

दिल्‍ली सरकार ने अभी जूनियर क्‍लासेज़ के लिए स्‍कूल खोलने के फैसले को टाल दिया है. दिल्‍ली आपदा प्रबंधन विभाग DDMA की बैठक में बुधवार यानी 29 सितंबर को यह फैसला लिया गया है. जानकारी के मुताबिक जूनियर क्‍लासेज़ के लिए फिलहाल स्‍कूल बंद ही रखे जाएंगे. आने वाले दशहरा, दीपावली के त्योहार के सीज़न के बाद स्‍कूल खोलने पर विचार किया जाएगा. हालांकि, तब तक स्‍कूलों द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी.

राज्‍य सरकार ने फैसला किया है कि रामलीला और अन्य त्योहार समारोहों को भी प्रतिबंधों के साथ अनुमति दी जाएगी. बैठक में यह माना गया कि कोरोना संक्रमण की स्थिति अभी नियंत्रण में है मगर इसमें अभी ढील नहीं दी जा सकती. खासतौर पर आगामी त्‍योहार के सीज़न में कोरोना संक्रमण को बढ़ने का मौका नहीं दिया जा सकता. बैठक में फैसला लिया गया कि त्योहारी सीजन के बाद बाकी की कक्षाएं खोली जाएंगी.

आगामी त्योहारी सीज़न के मद्देनजर, दिल्ली पुलिस और जिला प्रशासन कोरोना उपयुक्त व्यवहार सुनिश्चित करेगा और इस बात का ध्यान रखेगा कि इस दौरान होने वाली गैदरिंग निर्धारित SOP के अनुपालन में हों. यह ध्‍यान रखा जाएगा कि अधिक भीड़ जमा न हो. गैदरिंग वाली जगहों पर प्रवेश और निकास, बैठने के लिए उचित दूरी का इंतजाम होगा और कोई झूले, स्टाल आदि नहीं होंगे जो सामाजिक दूरी के उल्लंघन में भीड़ को आकर्षित करे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें