scorecardresearch
 

Russia-Ukraine War: पानी-खाने के लिए भटक रहे यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र, लगाई जल्‍द एयरलिफ्ट किए जाने की गुहार

Russia-Ukraine War: राजधानी कीव में फंसे छात्र नीलेश ने बताया कि लोग खाना और पानी एकट्ठा करने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि 50 से 60 भारतीय छात्र एक हॉस्‍टल में फंसे हैं और लाइन लगाकर पानी लेने के लिए खड़े हैं ताकि 1-2 दिनों तक घरों में ही रह सकें.

X
Indian Students in Ukraine: Indian Students in Ukraine:

Russia-Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच जारी विवाद ने अब जंग का रूप ले लिया है. रूस ने यूक्रेन पर सैन्‍य कार्रवाई शुरू कर दी है. यूक्रेन के कई हिस्‍सों में गुरुवार सुबह से धमाके जारी हैं. Ivano-Frankivsk हवाई अड्डे पर मिसाइल हमले के वीडियो भी सामने आ रहे हैं. ऐसे में भारत के लिए एक बड़ी चिंता है जंग के बीच फंसे भारतीय छात्रों की सुरक्षा. अभी भी हजारों की संख्‍या में छात्र यूक्रेन में मौजूद हैं जो बेकाबू हो चुकी परिस्थितियों को लेकर घबराए हुए हैं.

राजधानी कीव में फंसे छात्र नीलेश ने बताया कि लोग खाना और पानी एकट्ठा करने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि 50 से 60 भारतीय छात्र एक हॉस्‍टल में फंसे हैं और लाइन लगाकर पानी लेने के लिए खड़े हैं ताकि 1-2 दिनों तक घरों में ही रह सकें. उन्‍होंने आगे बताया कि सभी सुपरमार्केट में खाना-पीना खत्‍म हो चुका है. एयरस्‍पेस बंद होने के बाद एयरइंडिया की फ्लाइट भी वापस लौट चुकी हैं. ऐसे में छात्रों का कहना है कि उनकी सुरक्षा के लिए इंतजाम किए जाने चाहिए.

Ukraine में फंसे भारतीय स्टूडेंट्स की मां ने लगाई गुहार

जो छात्र एयर इंडिया की फ्लाइट लेने एयरपोर्ट गए थे वे पूरी तरह फंस चुके हैं. अपने शहर भी वापस नहीं जा सकते. छात्रों ने बताया कि लगभग 50 भारतीय छात्रों को बसों की सहायता से किसी सेफहाउस ले जाया गया है मगर कोई अपडेट नहीं है. 

वीडियो जारी करके मांगी मदद

यूक्रेन की नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी के छात्र सिद्धार्थ दीक्षित ने वीडियो बनाकर मदद की गुहार लगाई है. उन्‍होंने बता कि एक फ्लैट में वे 3 साथी फंसे हुए हैं और आसपास के मार्केट में खाना और पानी खत्‍म हो गए हैं. उन्‍होंने कहा कि एयरपोर्ट पर बम गिराए गए हैं, धुंआ उठ रहा है. ऐसे में वे यूक्रेन से बाहर नहीं निकल सकते और चाहते हैं कि सरकार उन्‍हें जल्‍द से जल्‍द एयरलिफ्ट करे या पोलैंड बॉर्डर तक पहुंचाए. देश के अलग अलग शहरों में अभी 2 हजार से अधिक स्‍टूडेंट्स फंसे हुए हैं और जारी गतिरोध के चलते स्थिति अभी और भयावह हो सकती है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें