scorecardresearch
 

AP Board 12th Exam Postponed: हाईकोर्ट के निर्देश पर आंध्र में 12वीं की परीक्षा स्थगित

AP Board Intermediate Exam 2021 Postponed: लंबे विवाद और हाईकोर्ट के कहने पर आख‍िरकार आंध्र प्रदेश सरकार ने इंटरमीडिएट की परीक्षाओं को स्थगित कर द‍िया है. शिक्षा मंत्री ए. सुरेश ने कल कहा कि कोरोना के हालात सामान्य होने तक परीक्षा स्थगित की गई है.

प्रतीकात्‍मक फोटो (Getty) प्रतीकात्‍मक फोटो (Getty)

AP Board 12th Exam 2021 Postponed: आंध्र प्रदेश में 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर लगातार छात्र व अभ‍िभावक स्‍थगन की मांग कर रहे थे. इस पर राज्‍य सरकार को विपक्ष ने भी घेर रखा था. आखिरकार सरकार को उच्च न्यायालय की सलाह पर इंटरमीडिएट की परीक्षाओं को स्थगित करना पड़ा.

शिक्षा मंत्री ए. सुरेश ने बताया कि कोरोना की स्थिति सामान्य होने तक परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है. उच्च न्यायालय ने कोविड-19 के चलते इंटर की परीक्षा आयोजित कराने के फैसले पर सरकार को फिर से विचार करने के लिए सलाह दी थी. कोरोना के चलते खराब हो रहे हालात के सामान होने पर AP Board Intermediate Exam 2021 Revised Date sheet जारी होगी. बता दें क‍ि बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन 9 मई से क‍िया जाना था.

बता दें क‍ि व‍िपक्ष व अभ‍िभावकों के भारी विरोध के बावजूद राज्‍य सरकार तय शेड्यूल पर ही एग्‍जाम कराने पर अड़ी थी. TDP के महासचिव और एमएलसी नारा लोकेश ने गुरुवार को सवाल उठाया था कि वाईएस जगनमोहन रेड्डी सरकार Covid-19 की दूसरी लहर के खतरे के मद्देनजर अगर कैबिनेट की बैठक को स्थगित कर सकती है तो बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित क्यों नहीं कर सकती. 

लोकेश ने मुख्यमंत्री से सवाल किया था कि क्या उनके मंत्रिमंडल के 30 मंत्रियों का जीवन लाखों छात्रों के जीवन से ज्‍यादा महत्वपूर्ण है. लोकेश ने ये भी कहा था क‍ि मंत्रियों के बीच सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ कैबिनेट मीटिंग रखने की गुंजाइश होगी, लेकिन हजारों परीक्षा केंद्रों पर लाखों छात्रों के लिए ऐसा करना मुश्किल होगा.

उन्‍होंने परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग की सरकार के छात्रों और अभिभावकों की व्‍यापक अपील के बावजूद अपने निर्णय पर अड़े रहने को अनुचित बताया था. उन्‍होंने यह भी कहा था कि CM रेड्डी ने हाल ही में उपचुनाव के समय अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिए कोरोनोवायरस खतरे के कारणों का हवाला देते हुए तिरुपति में अपनी जनसभा रद्द कर दी थी. मगर लाखों छात्रों को परीक्षा देने के लिए बाध्‍य कर रहे हैं.

दूसरी ओर, सभी मांगों को नजरअंदाज करते हुए, राज्य के शिक्षा मंत्री आदिमलापु सुरेश ने  इंटरमीडिएट परीक्षाओं के शेड्यूल में कोई बदलाव नहीं करने की बात कही थी. अब हाईकोर्ट के कहने पर उन्‍हें अपना फैसला बदलना पड़ा है. अब एग्‍जाम पोस्‍टपोन होने के बाद लाखों छात्रों और अभ‍िभावकों ने चैन की सांस ली है.

बता दें कि‍ आंध्रप्रदेश में भी कोरोना की दूसरी लहर से लोग परेशान हैं. यहां 05 मई से बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन होना था जिसे लेकर लोगों में डर था क‍ि उनके बच्‍चे इतनी बड़ी संख्‍या में एग्‍जाम सेंटर में इकट्ठा होंगे तो उनमें संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा. लेकिन बोर्ड ने एग्‍जाम एडमिट कार्ड भी आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दिए थे जिसे लेकर चिंता और गहरा गई थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें