scorecardresearch
 

यूपी के अटल रेजिडेंश‍ियल स्कूलों में मिलेगा 1400 से अधिक छात्रों को एडमिशन

वंचित और गरीब परिवारों के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लक्ष्य से यूपी में अटल आवासीय विद्यालय अगले शैक्षणिक सत्र से प्रवेश लेना शुरू कर देंगे. इन स्कूलों में करीब 1,440 बच्चे दाखिला लेंगे. कुल 80 छात्रों को समायोजित करने के लिए प्रत्येक स्कूल में दो खंड होंगे.

X
प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
प्रतीकात्मक फोटो (Getty)

उत्तर प्रदेश में गरीब व वंचित पर‍िवारों के बच्चों को अच्छी श‍िक्षा देने के लिए अभी करीब 18 अटल आवासीय विद्यालय चल रहे हैं. इनमें से सात पर काम पूरा हो चुका है. बाकी स्कूलों के देरी से काम करने के चलते मजदूरों के बच्चों को पास के आवासीय विद्यालय में प्रवेश दिया जाएगा. एएनआई को दिए एक आधिकारिक बयान में संबंध‍ित अध‍िकारी ने ये जानकारी दी. मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा एक उच्च स्तरीय बैठक में उपस्थित थे जहां यह घोषणा भी की गई कि स्कूलों में प्रिंसिपल और कर्मचारियों के लिए भर्ती प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी. 

तैयार हुई दाख‍िला नीति 

पहले चरण के तहत 18 आयुक्तालयों में बनाए जा रहे अटल आवासीय विद्यालयों का उद्देश्य बच्चों को एनसीईआरटी की तर्ज पर आधुनिक शिक्षा देना है.  अधिकारियों के मुताबिक ये स्कूल 12 से 15 एकड़ की जगह पर बनाए जाएंगे. इन छात्रों का चयन राज्य आरक्षण नीति के अनुसार किया जाएगा. शुरुआती सालों में छात्रों का चयन सीबीएसई द्वारा किया जाएगा. फिलहाल प्रवेश नीति तैयार करने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. 

दिए बयान के मुताबिक सरकार से स्वीकृति मिलने के बाद, अधिसूचना जारी की जाएगी और फिर एक परीक्षा के बाद चयनित छात्रों की काउंसलिंग के माध्यम से अंतिम प्रवेश दिया जाएगा. परीक्षाएं मई 2023 में आयोजित की जा सकती हैं और अंतिम प्रवेश प्रक्रिया जून 2023 में पूरी होने की उम्मीद है. 

कैसे होगा संचालन

साथ ही स्थायी कर्मचारी चयन प्रक्रिया में सीबीएसई भी शामिल होगा. अटल विद्यालयों के संचालन की प्रभारी समिति में प्रत्येक स्कूल में एक प्रिंसिपल, एक एडमिनिस्ट्रेटर और 11 लोगों का टीचिंग स्टाफ होगा. अटल आवासीय विद्यालय शुरू होने के बाद विद्यार्थियों के चयन, विद्यालयों के संचालन और उन पर नजर रखने की जिम्मेदारी मंडल संचालन समिति की होगी.

एक तरह से जिलों में प्रवेश प्रक्रिया की निगरानी करने वाली समिति जिला स्तर पर निगरानी संस्था के रूप में कार्य करेगी. जिला आयुक्त समिति के अध्यक्ष के रूप में कार्य करेंगे और डीएम उपाध्यक्ष के रूप में कार्य करेंगे. समिति में नवोदय प्राचार्य, अटल आवासीय विद्यालय के प्रधानाचार्य और अतिरिक्त आयुक्त वित्त या मुख्य कोषागार अधिकारी (आयुक्त द्वारा नामित) शामिल होंगे. 

बयान में कहा गया है कि योगी आदित्यनाथ सरकार की ग्रामीण और गरीब समर्थक पहलों में से एक के रूप में मान्यता प्राप्त अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर 18 आवासीय विद्यालयों की स्थापना की प्रक्रिया का उद्देश्य मजदूरों और बेसहारा बच्चों के बच्चों को प्रवेश देना है. 

कैसे छात्रों को मिलेगा दाख‍िला 

ये स्कूल उन बच्चों को उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा प्रदान करेंगे जिनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है. इन बच्चों को अपने भविष्य को संवारने में ये सक्षम बनाएगा. इन सभी विद्यालयों में अत्याधुनिक शिक्षा प्रदान की जाएगी. वहीं यदि किसी बच्चे की खेल में रुचि है तो उसे खेल गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. सरकार स्कूल में रहने और सभी प्रकार की सुविधाओं की व्यवस्था करेगी. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें