scorecardresearch
 

Rakesh Sharma: अंतरिक्ष में अपने साथ क्‍या-क्‍या ले गए थे राकेश शर्मा? जानें उनके जीवन से जुड़ी 10 बातें

Rakesh Sharma Birthday: अंतरिक्षयात्रा से लौटने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उनसे पूछा था कि भारत ऊपर से कैसा दिखता है. उन्‍होंने जवाब दिया, "मैं बिना किसी हिचकिचाहट के कह सकता हूं, सारे जहां से अच्छा हिंदोस्‍तान हमारा."

Rakesh Sharma Birthday: Rakesh Sharma Birthday:

Rakesh Sharma Birthday: विंग कमांडर राकेश शर्मा का नाम देशभर में बच्‍चे-बच्‍चों को याद है. वह अप्रैल 1984 में रूस के सोयुज टी-11 स्‍पेसक्राफ्ट में अंतरिक्ष में परिक्रमा करने वाले पहले भारतीय बने. उन्होंने दो सोवियत अंतरिक्ष यात्रियों, यूरी मालिशेव और गेनाडी स्ट्रेकालोव के साथ अंतरिक्ष में 7 दिन, 21 घंटे और 40 मिनट बिताए.

13 जनवरी 1949 को पटियाला में जन्मे राकेश शर्मा, अंतरिक्ष यात्री बनने से पहले, भारतीय सशस्त्र बलों में वायु सेना के पायलट के रूप में काम करते थे. अंतरिक्षयात्रा से लौटने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उनसे पूछा था कि भारत ऊपर से कैसा दिखता है. उन्‍होंने जवाब दिया, "मैं बिना किसी हिचकिचाहट के कह सकता हूं, सारे जहां से अच्छा हिंदोस्‍तान हमारा."

आइये जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी 10 रोचक बातें
1. जनवरी 1982 में, जब यह निर्णय लिया गया कि एक सोवियत अंतरिक्ष जहाज पर एक भारतीय अंतरिक्ष में जाएगा, स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा ने इस बहुत ही चुनौतीपूर्ण मिशन के लिए स्वेच्छा से भाग लिया. एक बहुत ही मुश्किल चयन प्रक्रिया के बाद, जिसमें सबसे सटीक मेडिकल टेस्‍ट भी शामिल था, उन्हें भारतीय वायु सेना के 150 योग्य और अनुभवी पायलटों में से दो अंतरिक्ष यात्री उम्मीदवारों में से एक के रूप में चुना गया था.

2. अपने चयन के बाद, उन्होंने USSR में यूरी गगारिन सेंटर में एक अंतरिक्ष यात्री के रूप में प्रशिक्षण लिया, जहां उन्होंने पूरी निष्ठा और समर्पण के साथ खुद को साबित किया और सोवियत अंतरिक्ष विशेषज्ञों से प्रशंसा भी पाई.

3. स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा 03 अप्रैल 1984 को अंतरिक्ष में परिक्रमा करने वाले पहले भारतीय बने. उन्होंने संयुक्त भारत-सोवियत अंतरिक्ष मिशन से जुड़े सभी वैज्ञानिक प्रयोगों और उन्हें सौंपे गए इन-स्‍पेस कार्यों को सफलतापूवर्क पूरा किया.

4. राकेश शर्मा मैसूर स्थित डिफेंस फूड रिसर्च लैब की मदद से भारतीय भोजन को अंतरिक्ष में ले गए. उन्होंने सूजी का हलवा, आलू छोले और वेज पुलाव पैक किया था जिसे अपने साथी अंतरिक्ष यात्रियों के साथ शेयर भी किया.

5. उन्होंने अंतरिक्ष से भारत की तस्वीरें लीं और उन्होंने जो तस्वीरें लीं, उसी क्षेत्र का नक्शा बनाने के लिए दो साल की हवाई फोटोग्राफी से भारत को बचाया.

6. शर्मा अपने साथ तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राष्ट्रपति जैल सिंह, रक्षामंत्री वेंकटरमण और राजघाट की मिट्टी, महात्मा गांधी की समाधि के चित्र ले गए थे.

7. अंतरिक्ष जाने वाले पहले भारतीय होने के अलावा, राकेश शर्मा पहले ऐसे भारतीय भी हैं जिन्हें 'सोवियत संघ के हीरो' पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. उन्हें उनके रूसी सह अंतरिक्ष यात्री यूरी मालिशेव और गेनाडी स्ट्रेकालोव के साथ अशोक चक्र से भी सम्मानित किया गया था.

8. भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च वीरता पुरस्कार - अशोक चक्र से सम्मानित किया गया.

9. शर्मा भारतीय वायु सेना से विंग कमांडर के पद से सेवानिवृत्त हुए.

10. आज उनका 73वां जन्‍मदिन मनाया जा रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×