scorecardresearch
 

दिल्ली में लोग सुरक्षित नहीं, बढ़े जुर्म के आंकड़े

क्या आप यकीन करेंगे कि दिल्ली में 2016 के मुकाबले 2017 में जुर्म के मामले 12 फ़ीसदी बढ़ गए? ऐसा तब हुआ, जब पुलिस के बारे में ये आम राय है कि वो आसानी से एफआईआर तक दर्ज नहीं करती. ज़ाहिर है जुर्म का ये आंकड़ा अपने-आप में काफ़ी कुछ कहता है. दिल्ली में बदमाश बेख़ौफ़ हैं और आम आदमी सहमा हुआ है. चोरी और स्ट्रीट क्राइम जैसी वारदातों में हुआ इज़ाफ़ा ये बताने के लिए काफ़ी है कि दिल्ली में आम आदमी कहीं भी महफ़ूज़ नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें