scorecardresearch
 

यूपी STF की बड़ी सफलता, वाराणसी में नशीले फेंसेडिल सिरप की 50700 शीशियां कीं जब्त, 5 तस्कर अरेस्ट!

यूपी STF ने लगभग 1 करोड़ रुपए मूल्य की अवैध नशीली फेंसिडिल सिरप बरामद की है.नशे की इस बड़ी खेप के साथ STF ने 5 तस्कर भी पकड़ लिए हैं.

UP STF को बड़ी सफलता (फाइल फोटो) UP STF को बड़ी सफलता (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी STF ने अवैध फेंसेडिल सिरप किया बरामद
  • फेंसेडिल सिरप की तस्करी करने वाले पांच गिरफ्तार
  • बंगाल और पूर्वोत्तर में भेजी जानी थी नशे की खेप

यूपी में स्पेशल टास्क फोर्स की वाराणसी इकाई को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. STF ने लगभग 1 करोड़ रुपए मूल्य की अवैध नशीली फेंसिडिल सिरप बरामद की है. नशे की इस बड़ी खेप के साथ STF ने 5 तस्कर भी पकड़ लिए हैं. दरअसल नशे के कारोबार में फेंसिडिल सिरप के अपने ग्राहक हैं और इसकी डिमांड उन जगहों पर ज्यादा है जहां पर शराब पर पाबंदी है या गरीब तबके के लोग रहते हैं.

इस बड़ी कार्रवाई में STF के हत्थे 10-20 हजार नहीं बल्कि 50,700 फेंसेडिल की शीशियां हाथ लगीं. जिसकी बाजार में अनुमानित कीमत लगभग एक करोड़ रुपए है. जिस गोदाम से ये शीशियां बरामद की गईं हैं वो वाराणसी के थाना रोहनिया के अंतर्गत भुल्लनपुर एरिया में आता है. STF ने इस मामले में तस्कर गिरोह के 5 सदस्य गिरफ्तार किये गए हैं. नशे की ये बड़ी खेप बिहार, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर के राज्यों में सप्लाई होनी थी.

इस गिरोह द्वारा उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से मादक पदार्थों एवं दवाओं की तस्करी कर पूर्वाेत्तर राज्यों में भेजा जा रहा है, जहां इन दवाओं का उपयोग नशा करने के लिये किया जा रहा है. STF को जांच में पता चला था कि एक गिरोह द्वारा वाराणसी के भुल्लनपुर में एक गोदाम बनाकर फेंसिडिल सिरप को अवैध रूप से लाकर रखा जाता है और उसके बाद उसे पूर्वोत्तर राज्यों और अन्य जगहों पर तस्करी के माध्यम से भेजा जाता है.

गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि फेंसिडिल सिरप, कफ सिरप के रूप में उपयोग किया जाता है. फेंसिडिल में कोडिन नामक केमिकल पाया जाता है, जिसे एक साथ अधिक मात्रा में लेने पर नशा होता है. बिहार, प. बंगाल एवं पूर्वाेत्तर राज्यों में नशा करने वाले लोग इसका प्रयोग नशीले पदार्थ के रूप में करते हैं और यह सिरप वहां पर ऊंचे दामों में बिकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें