scorecardresearch
 

सुल्तानपुर में मॉब लिंचिंग, दो बदमाशों को पीट-पीट कर मार डाला

गांव वालों ने जिन लोगों को पीट पीट कर मार डाला, अब उनके परिवार वाले बता रहे हैं कि मामला अवैध वसूली का नहीं बल्कि गांव से काम के लिए मजदूर लेकर जाने का था. मगर सबने मिलकर उन्हें मार डाला.

पुलिस ने इस मामले में मृतकों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है पुलिस ने इस मामले में मृतकों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में एक बेहद हैरान करने वाले मामला सामने आया है, जहां गांव वालों ने एक कुख्यात बदमाश और उसके साथी को पीट-पीट करके मार डाला. मृतक बदमाश गांव में अवैध उगाही करने के लिए आए थे. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

ये वारदात सुल्तानपुर के सेमलघाट गांव की है. जहां कुख्यात बदमाश जितेंद्र प्रताप अपने 4 साथियों के साथ रंगदारी वसूलने के लिए आया था. पुलिस के मुताबिक सभी बदमाश गांव के प्रधान जयप्रकाश के घर पहुंचे और वहां 2 लाख रुपये की रंगदारी मांगने लगे.

प्रधान ने रंगदारी देने से मना किया तो बदमाशों ने प्रधान की मां रमा देवी और घर के दूसरे सदस्यों की बुरी तरह से पिटाई कर दी. घरवालों ने शोर मचा दिया. उनके शोर को सुनकर गांव वाले वहां इकट्ठा हो गए और बदमाशों को घेर लिया. फिर गांव वालों ने बदमाशों की जमकर पिटाई कर दी.

लोगों ने बदमाशों को इतना पीटा कि कुख्यात जितेंद्र प्रताप की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसके दूसरे साथी धनंजय यादव ने अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में दम तोड़ दिया. घटना की जानकारी मिलने के बाद जिले के आला पुलिस अधिकारी और जिलाधिकारी खुद फोर्स के साथ गांव में पहुंच गए.

हालांकि मृतक जितेंद्र प्रताप के परिवार वालों का कहना है कि यह मामला वसूली का नहीं है बल्कि उनका भाई जितेंद्र गांव से मजदूरों को लाने गया था. उसके बाद गांव वालों ने जितेंद्र की हत्या कर दी. पुलिस ने मरने वालों के खिलाफ लूटपाट और उगाही का मुकदमा दर्ज किया है, वहीं दूसरी तरफ गांव के प्रधान के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें