scorecardresearch
 

झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर मांगे 50 लाख, पति समेत महिला SI गिरफ्तार

जयपुर पुलिस की सब इंस्पेक्टर बबीता चौधरी ने पहले विज्ञापन बनाने वाली कंपनी के संचालक को फोन करके बिटकॉइन के मामले में हेराफेरी करने का आरोप लगाया और फिर वो अवैध वसूली के लिए उसे धमकाने लगी.

ACB की टीम अब आरोपी महिला एसआई से पूछताछ कर रही है ACB की टीम अब आरोपी महिला एसआई से पूछताछ कर रही है

जयपुर में तैनात महिला सब इंस्पेक्टर ने पूरे पुलिस महकमे को शर्मसार कर दिया. शहर के शिप्रापथ थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर बबीता चौधरी को उसके पति अमरदीप के साथ पांच लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया.

महिला सब इंस्पेक्टर की दबंगई देखिए कि उसने एक शख्स को झूठे मुकदमे में फंसाने का डर दिखाकर 50 लाख रुपए रिश्वत की मांग की थी. इसी रकम की किश्त लेने के लिए बबीता चौधरी पति अमरदीप के साथ एक रेस्टोरेंट में पहुंची थी. हैरानी की बात है कि बबीता चौधरी हाल ही में पुलिस लाइन से थाने में आई थी.

आरोप के मुताबिक सब इंस्पेक्टर बबीता चौधरी ने विज्ञापन बनाने का काम करने वाली ऑनलाइन कंपनी के संचालक को फोन किया कि वो बिटकॉइन रकम के नाम पर हेराफेरी कर रहा है. बबीता चौधरी फिर उस शख्स को थाने में बुला कर आईटी एक्ट में फंसाने की धमकी देकर 50 लाख रिश्वत की मांग करने लगी.

इस पर कंपनी संचालक ने कहा कि उसने अभी नया काम शुरू किया है और इतनी बड़ी रकम उसके पास नहीं है. बबीता चौधरी ने फिर उसे 5-5 लाख की दस किस्तों में ये रकम देने के लिए कहा. सब इंस्पेक्टर की मांग से तंग कंपनी संचालक ने पूरे प्रकरण की शिकायत एंटी करप्शन ब्यूरो से की.

इसके बाद बबीता चौधरी को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया. बबीता चौधरी ने घूस की पहली किस्त 5 लाख रुपए के साथ कंपनी संचालक को मानसरोवर शिप्रा पथ के पास रेस्टोरेंट में बुलाया. बबीता चौधरी पति अमरदीप के साथ रेस्टोरेंट पहुंची. जैसे ही शिकायतकर्ता से अमरदीप ने पैसे पकड़े वैसे ही पहले से जाल बिछाए बैठे एसीबी के अधिकारियों ने दावा बोल दिया. बबीती चौधरी और उसके पति को रंगे हाथ पकड़ा गया.

एसीबी के आईजी सचिन मित्तल के मुताबिक एक हफ्ता पहले वेब विज्ञापन और डिजाइनिंग की कंपनी चलाने वाले शख्स ने शिकायत की थी उनका एक कर्मचारी लेन देन का डेटा चुरा कर ले कर भाग गया. साथ ही वो बिटकॉइन के जरिए पेमेंट देने की रिकॉर्डिंग भी ले गया. उसी ने यह सारी रिकॉर्डिंग शिप्रा पथ थाने में महिला सब इंस्पेक्टर बबीता चौधरी के पति अमरदीप को सौंपी.

अमरदीप और बबीता ने फिर मिलकर उस व्यक्ति को झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दे कर मोटी रकम ऐंठने की ठानी. बबीता चौधरी मूल रूप से झूंझनू की रहने वाली है. हाल में उसने वैशाली नगर में रहना शुरू किया था. बबीता चौधरी 2010 में सब इंस्पेक्टर बनी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें