scorecardresearch
 

रेप करना चाहता था युवक, खुद को एड्स का मरीज बताकर महिला ने बचाई इज्जत

महिला रास्ते में खड़े होकर शेयरिंग कैब का इतंजार कर रही थी. तभी वहां से 22 वर्षीय युवक किशोर विलास बाइक से गुजरा उसने महिला और उसकी बेटी को लिफ्ट दे दी. मगर वो उन दोनों को एक सुनसान जगह पर ले गया.

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है (सांकेतिक तस्वीर) पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक महिला ने अपनी सूझबूझ का इस्तेमाल करते हुए खुद को एक दरिंदे के जाल से बचा लिया. वो दरिंदा जब महिला के साथ रेप करने वाला था, तभी महिला ने उसे बताया कि उसे एड्स जैसी जानलेवा बीमारी है. बस ये बात सुनते ही आरोपी के होश उड़ गए और उसने महिला को छोड़ दिया. इस घटना के बाद आरोपी फरार हो गया.

घटना औरंगाबाद शहर की है. घटना के बाद पीड़ित महिला सीधे पुलिस के पास जा पहुंची. उसने पुलिस को आपबीती सुनाई. उसने पुलिस को शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि वारदात के वक्त वह अपनी 7 वर्षीय बेटी के साथ बाजार से वापस अपने घर जा रही थी.

घर जाने के लिए उसके पास पैसे कम थे. लिहाजा वो रास्ते में खड़े होकर शेयरिंग कैब का इतंजार कर रही थी. तभी वहां से 22 वर्षीय युवक किशोर विलास बाइक से गुजरा उसने महिला और उसकी बेटी को लिफ्ट दे दी. मगर वो उन दोनों को उनके पते पर ले जाने की बजाय एक सुनसान जगह पर ले गया.

जहां उसने चाकू निकाला और महिला के साथ जबरदस्ती करने लगा. वो महिला के की इज्जत लूटना चाहता था. लेकिन तभी महिला ने हिम्मत नहीं हारी उसने आरोपी से कहा कि वो एड्स की मरीज है. ये सुनते ही आरोपी के होश उड़ गए और वो महिला को छोड़कर वहां से फरार हो गया.

महिला ने पुलिस को बताया कि वह आरोपी को नहीं जानती है. पुलिस ने महिला के बताए अनुसार आरोपी का स्केच बनवाया और उसकी तलाश शुरू कर दी. इसी दौरान आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया. पुलिस को पता चला कि आरोपी किशोर विलास अपने पिता की हत्या का आरोपी है. वह जमानत पर जेल से बाहर आया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें