scorecardresearch
 

JNU ने विदेशी छात्रा के यौन उत्पीड़न के दोषी प्रोफेसर को हटाया

जेएनयू ने यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर को हटा दिया है. फैसला तुरंत प्रभाव से लागू कर दिया गया है. एक विदेशी छात्रा की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है.

जेएनयू की एग्जीक्यूटिव काउंसिल ने लिया प्रोफेसर को हटाने का फैसला जेएनयू की एग्जीक्यूटिव काउंसिल ने लिया प्रोफेसर को हटाने का फैसला

जेएनयू ने यौन उत्पीड़न के आरोपी असिस्टैंट प्रोफेसर को हटा दिया है. यूनिवर्सिटी जांच समिति ने प्रोफेसर को यौन उत्पीड़न का दोषी ठहराया. शिकायत एक विदेशी रिसर्च स्कॉलर ने की थी, जो उन्हीं के नेतृत्व में रिसर्च कर रही है. प्रोफेसर को नौकरी से निकालने का फैसला यूनिवर्सिटी एग्जीक्यूटिव काउंसिल ने लिया.

बांग्लादेश की है छात्रा
सूत्रों ने बताया कि पीड़िता बांग्लादेश की है, जो साइकोलॉजी विभाग से रिसर्च कर रही है. उसकी शिकायत पर जेंडर सेंसिटाइजेशन कमेटी अगेंस्ट हैरेसमेंट ने जांच शुरू की. जांच में कमेटी ने प्रोफेसर को दोषी पाया और उनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश कर दी. इसके बाद एग्जीक्यूशन कमेटी की बैठक हुई और उन्हें तुरंत प्रभाव से हटाने का फैसला किया गया.

प्रोफेसर ने नहीं दिया कोई जवाब
दोषी ठहराए गए प्रोफेसर से संपर्क करने की कोशिश की गई. उन्हें कई बार फोन किए गए, टेक्स्ट मैसेज भी छोड़े गए, लेकिन उन्होंने किसी का भी जवाब नहीं दिया. प्रोफेसर को हटाने का फैसला ऐसे समय में आया है जब देश के तमाम उच्च शिक्षण संस्थानों में सबसे ज्यादा यौन उत्पीड़न में जेएनयू का नाम आ रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×