scorecardresearch
 

यौन उत्पीड़न मामले में TERI प्रमुख पद से पचौरी बर्खास्त

एक कनिष्ठ सहयोगी द्वारा यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने के पांच महीने से अधिक समय बाद जलवायु वैज्ञानिक आरके पचौरी को TERI के प्रमुख के पद से बर्खास्त कर दिया गया.

आरके पचौरी आरके पचौरी

एक कनिष्ठ सहयोगी द्वारा यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने के पांच महीने से अधिक समय बाद जलवायु वैज्ञानिक आरके पचौरी को TERI के प्रमुख के पद से बर्खास्त कर दिया गया.

ऊर्जा दक्षता ब्यूरो के महानिदेशक अजय माथुर (74) को पचौरी का उत्तराधिकारी नियुक्त किया गया. यह फैसला ऐसे समय में किया गया, जबकि कुछ दिन पूर्व दिल्ली की एक अदालत ने आरके पचौरी को टेरी के प्रधान कार्यालय और गुड़गांव शाखा को छोड़कर टेरी के परिसर में प्रवेश करने की अनुमति दी थी.

द एनर्जी एंड रिसोर्सेज इंस्टीट्यूट (TERI) की संचालन परिषद (GC) ने एक बैठक में पचौरी को टेरी के महानिदेशक पद से हटाने का फैसला किया.

परिषद ने कहा, ‘बेंगलुरु में टेरी की संचालन परिषद की बैठक में फिलहाल ऊर्जा दक्षता ब्यूरो, भारत सरकार के महानिदेशक अजय माथुर को टेरी का नया महानिदेशक नियुक्त करने का फैसला किया गया.’ हालांकि महिलाओं और कानूनी कार्यकर्ताओं ने इस फैसले से निंदा करते हुए पचौरी को हटाने में देरी के लिए GC पर निशाना साधा.

पचौरी ने महिला की शिकायत के बाद नोबेल पुरस्कार विजेता संयुक्त राष्ट्र अंतरसरकार जलवायु परिवर्तन पैनल (IPCC) का अध्यक्ष पद छोड़ा था. पीड़ित लड़की का आरोप है कि पचौरी ने उसे अनुचित ईमेल, एसएमएस और व्हाट्सऐप मैसेज भेजे. हालांकि पचौरी ने इन आरोपों से इनकार किया है.

GC में शामिल किरन मजूमदार शॉ ने बैठक के बाद कहा, ‘पचौरी पद पर नहीं रहेंगे. टेरी के लंबी अवधि के हित सर्वोपरि हैं.’ इस परिषद में एचडीएफसी के बोर्ड के प्रमुख दीपक परेख, बैंकर नैनालाल किदवई, वरिष्ठ निवेश बैंकर हेमेंद्र कोठारी और शैलेश नाइक शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें