scorecardresearch
 

फोरेंसिक रिपोर्ट में खुलासा, PAK में ही छपे थे 2000 के नकली नोट

नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) द्वारा बीते दिनों पश्चिम बंगाल के मालदा में 2000 के हाई क्वालिटी के नकली नोट पकड़े गए थे. अब इन नोटों की जांच की फोरेंसिक रिपोर्ट एनआईए को मिल चुकी है. रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पकड़े गए नकली नोटों को पाकिस्तान में ही छापा गया था.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) द्वारा बीते दिनों पश्चिम बंगाल के मालदा में 2000 के हाई क्वालिटी के नकली नोट पकड़े गए थे. अब इन नोटों की जांच की फोरेंसिक रिपोर्ट एनआईए को मिल चुकी है. रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पकड़े गए नकली नोटों को पाकिस्तान में ही छापा गया था.

सूत्रों के मुताबिक, इन नोटों को बनाने के लिए पाकिस्तान ने बांग्लादेश के स्टांप पेपर का इस्तेमाल किया था. नोटों पर पाकिस्तानी इंक का इस्तेमाल किया गया है, जिससे आशंका जताई जा रही है कि बरामद नकली नोटों को पाकिस्तान में ही छापा गया है.

नोटों को तैयार करने के बाद उन्हें बांग्लादेश के रास्ते भारत भेजा गया था. एनआईए सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक, नकली नोटों के सिक्योरिटी फीचर काफी हद तक असली नोटों से मिलते-जुलते हैं. दरअसल 2000 के नोटों में करीब 11 सिक्योरिटी फीचर्स को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने हूबहू कॉपी कर लिया है.

गौरतलब है कि पिछले महीने जांच एजेंसियों ने पश्चिम बंगाल के मालदा से नई करंसी में लाखों रुपये के नकली नोट बरामद किए थे. जिसके बाद एनआईए ने जांच के लिए इन नोटों को नासिक स्थित फोरेंसिक इंवेस्टीगेशन सेंटर भेजा था. जांच रिपोर्ट में इन नोटों के पाकिस्तान में छापे जाने से साफ होता है कि पाकिस्तान किस तरह भारतीय अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने की हर संभव कोशिश कर रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें