scorecardresearch
 

फरीदाबाद: लापता छात्र का शव बरामद, पुलिस पर कार्रवाई ना करने का आरोप

फरीदाबाद के गांव पहलादपुर में आगरा नहर से पुलिस ने एक युवक का शव बरामद किया था. मृतक की पहचान फरीदाबाद के मनीष के रूप में हुई. मनीष 31 जनवरी से लापता था.

मनीष, मृतक मनीष, मृतक

फरीदाबाद के गांव पहलादपुर में आगरा नहर से पुलिस ने एक युवक का शव बरामद किया था. मृतक की पहचान फरीदाबाद के मनीष के रूप में हुई. मनीष 31 जनवरी से लापता था. मनीष के घरवाले हर जगह उसे तलाशते रहे. पुलिस थाने का चक्कर काटते रहे लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. 5 फरवरी को उसके मरने की खबर उसके घर पहुंची.

कॉलेज जाने का बोलकर निकला था

बता दें कि 31 जनवरी को मनीष अपने घर से कॉलेज के लिए निकला था. वह अपनी मां से कह कर निकला था कि वह शाम को चार बजे तक वापस आ जाएगा. लेकिन वह नहीं लौटा. उसके घरवाले उसे हर जगह तलाशते रहे. पुलिस थाने का चक्कर काटते रहे, लेकिन कुछ खबर नहीं मिली.  

पहलादपुर में आगरा नहर से बरामद हुई लाश

मनीष की लाश उसके घर से दूर बल्लभगढ़ के गांव पहलादपुर में आगरा नहर से बरामद की. मनीष की पहचान होने के बाद उसके घरवालों को पुलिस ने जानकारी दी. मनीष के मरने की खबर जैसे ही उनके घर पहुंची पूरा परिवार सदमे में आ गया.

घरवालों का पुलिस पर गैर-जिम्मेदारी का आरोप

घरवालों का कहना है कि पुलिस ने मनीष को ढूंढने की कोई कोशिश नहीं की. बल्कि वो यह कहते रहे की मनीष लौट आएगा धीरज रखो लेकिन खुद पुलिस वाले ही उसकी लाश घर पहुंचा गए. इसके बाद घरवाले मनीष की लाश को लेकर शहर के व्यस्त अम्बेडकर चौराहे पर बैठ गए और जाम लगा दिया. घरवालों का कहना था कि पुलिस जल्द कातिलों को पकड़े.

2 दिन के बाद हुई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

मनीष की मौत पर पुलिस का कहना है कि उनके पास घरवाले दो फरवरी को आए. उसके बाद गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जा रही थी. अब पुलिस को मनीष के पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है ताकि ये पता लग सके कि मनीष की मौत कैसे हुई.

31 जनवरी को कॉलेज बंद था

साथ ही पुलिस ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि 31 जनवरी को घर से निकलने के बाद मनीष किसके साथ था, क्योंकि 31 को मनीष कॉलेज बंद था. पुलिस मनीष के मोबाइल डीटेल और उसकी लोकेशन के जरिए उसके दोस्तों से पूछताछ करने की तैयारी में है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें