scorecardresearch
 

मूक-बधिर होने का सर्टिफिकेट दिखाकर करते थे लूट, दिल्ली में गिरफ्तार

आपके घर पर कोई मूक-बधिर बनकर अगर दस्तक दे या फिर मूक-बधिर होने का सर्टिफिकेट हाथ में लेकर मदद मांगने के बहाने आपके घर में घुसने की कोशिश करे...तो आप सम्भल जाइए. कहीं ऐसा न हो कि मदद मांगने के बहाने वो आपका अपना शिकार न बना ले.

पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है

आपके घर पर कोई मूक-बधिर बनकर अगर दस्तक दे या फिर मूक-बधिर होने का सर्टिफिकेट हाथ में लेकर मदद मांगने के बहाने आपके घर में घुसने की कोशिश करे...तो आप सम्भल जाइए. कहीं ऐसा न हो कि मदद मांगने के बहाने वो आपका अपना शिकार न बना ले.

ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला साउध दिल्ली के नेब सराय इलाके में सामने आया है. जहां पुलिस टीम ने ऐसे दो शातिर दोस्तों को गिरफ्तार किया है, जो मूक-बधिर बनकर लोगों को लूटने का काम करते थे. पुलिस ने दोनों के पास से चोरी के कई लैपटॉप और मोबाइल बरामद किए हैं.

पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपी आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं, लेकिन राजधानी दिल्ली में मूक-बधिर होने का सर्टिफिकेट लेकर लोगों के घरों में जाकर उनसे डोनेशन मांगते हैं, और जैसे ही घर का मालिक घर के अंदर से रुपए-पैसे लेने जाता है. वैसे ही ये मौका पाकर उसके घर से लैपटॉप, मोबाईल और अन्य कीमती सामान लेकर चंपत हो जाते थे.

इन दोनों ने दिल्ली के कई अलग-अलग इलाकों में वारदातों को अंजाम दिया है. ये शातिर चोर सराय काले खां स्थित अपने घर में चोरी का सामान छिपाकर रखते थे. पुलिस के मुताबिक ये दोनों शातिर उन घरों को अपना निशाना बनाते हैं, जहां स्टूडेंट या कोई नौकरी करने वाला युवक अकेला रहता हो.

ये दोनों खासकर पीजी और ओपन फ्लैट को टारगेट करते थे. हाल ही में नेब सराय इलाके में एक वारदात हुई थी, जिसके बाद इन दोनों को पुलिस ने धर दबोचा. पुलिस को उम्मीद है कि इनसे पूछताछ के दौरान कई और मामलों का खुलासा हो सकेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें