scorecardresearch
 

ब्लैक फ्राइडेः ऐसे पेरिस पर बरपा आतंक और मौत का कहर

शनिवार और रविवार की छुट्टी होती है, लिहाजा शुक्रवार को शाम होते ही पूरा पेरिस सड़कों पर उतर आता है. शुक्रवार को भी शहर सड़क पर था और उनमें से करीब डेढ़ हजार लोग एक म्यूजिकल कंसर्ट में अमेरिकन बैंड को सुन रहे थे.

पेरिस हमले के फौरन बाद पुलिस हरकत में आ गई थी पेरिस हमले के फौरन बाद पुलिस हरकत में आ गई थी

शनिवार और रविवार की छुट्टी होती है, लिहाजा शुक्रवार को शाम होते ही पूरा पेरिस सड़कों पर उतर आता है. शुक्रवार को भी शहर सड़क पर था और उनमें से करीब डेढ़ हजार लोग एक म्यूजिकल कंसर्ट में अमेरिकन बैंड को सुन रहे थे. तभी स्टेज के पीछे से संगीत के शोर के बीच अचानक गोलियों की आवाज आती है और इसके साथ ही जो पहला शख्स स्टेज पर गिरता है वो था ड्रम मास्टर. इसके बाद यहां पर करीब सौ लोग मारे जाते हैं. हमले के बाद पहली बार इस कत्लेआम का वीडियो भी सामने आया है.

तारीखः 13 नवंबर, 2015
दिनः
शुक्रवार
वक्तः रात 10.08 बजे
जगहः बाटाक्लां कंसर्ट हॉल, पेरिस
शुक्रवार की रात यानी पेरिस की सबसे रंगीन और मस्ती वाली रात. क्योंकि वीकेंड होने की वजह से लोग मौज-मस्ती करते हैं और देर तक घूमते फिरते हैं. फिर उस दिन तो बाटाक्लां कंसर्ट हॉल में खास शो था. अमेरिकी बैंड ईगल्स ऑफ डेथ मेटल ग्रुप का म्यूजिकल शो. उस शो को जो वीडियों सामने आया है. उसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं. कर्यक्रम शुरू हो चुका था. संगीत की धुन बेहद तेज थी. सैकड़ों लोग हॉल मे मौजूद थे. कार्यक्रम के हिसाब से रोशनी कम रखी गई थी.

तेज़ संगीत के बीच चली गोलियां

कंसर्ट अपने शबाब पर था. ड्रमर और दूसरे आर्टिस्ट स्टेज पर परफॉर्म कर रहे थे. अभी तक बस म्यूजिक का ही शोर सुनाई दे रहा था. फिर अचानक संगीत के शोर के साथ साथ कुछ नई आवाज सुनाई दी. यह आवाज थी गोलियों की तड़तड़ाहट की. मगर इससे पहले कि कोई इस आवाज को समझ पाता अचानक देखते ही देखते लोगों के सामने स्टेज पर परफार्म कर रहा ड्रमर गोली लगने से स्टेज पर ही गिर पड़ा. वो पूरे जोश से अब तक ड्रम बजा रहा था. पर अचानक एक तेज रोशनी आई और उसके सिर या कंधे में गोली लगी जिसकी वजह से वो गिर पड़ा.

ज़रूर पढ़ेंः आईएसआईएस की बौखलाहट का नतीजा था पेरिस हमला

आतंकियों ने सबसे पहले कलाकारों को बनाया निशाना

ड्रमर को नीचे गिरते हुए दूसरा परफार्मर देख चुका था. वो गोलियों पहले ही गोलियों की आवाज भी सुन चुका था. लिहाजा वो जान बचाने के लिए फौरन बाईं तरफ भाग निकला. वीडियो को देख कर ये साफ हो जाता है कि कंसर्ट हॉल में आतंकवादियों ने स्टेज के पीछे से एंट्री की थी. और सबसे पहले उन्होंने स्टेज पर परफार्म कर रहे कलाकारों को ही गोली मारी.

स्टेज पर आकर दर्शकों पर बरसाई गोली

कलाकारों को गोली मारने के बाद आतंकी स्टेज पर आ गए. और उन्होंने इधर-उधर जान बचाकर भागने की कोशिश कर रहे दर्शकों की तरफ बंदूक का मुंह घुमा दिया. और फिर उन्होंने तब तक अंधाधुंध गोलियां चलाईं जब तक की सारी मैगजीन खाली नहीं हो गई. चश्मदीदों की मुताबिक शुरू के एक दो मिनट तक लोग समझ ही नहीं पाए कि क्या हो रहा है. संगीत की धुन पर नाच रहे लोग अचानक जमीन पर गिरने लगे थे. पेरिस हमले में सबसे ज्यादा करीब सौ लोग इसी बाटाक्लां कंसर्ट हाल में मारे गए.

ज़रूर पढ़ेंः भारत में सक्रिय आतंकी संगठनों के जरिए ISIS करा सकता है हमला


आतंकियों ने खुद को बम से उड़ाया

हाल में हर तरफ लाशें बिखरी हुई थीं. आतंकियों ने चुन-चुन कर लोगों को निशाना बनाया. उनका मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों को मौत की नींद सुलाना था. वे अपने मकसद में काफी हद तक कामयाब भी हुए. उनका काम पूरा हो चुका था. गोलियों की आवाज थम चुकी थी. अचानक हाल में दो बड़े धमाके हुए. दरअसल, दो आतंकियों ने खुद को बम से उड़ा दिया. जबकि एक आतंकवादी को सुरक्षा गार्ड ने मार गिराया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें