scorecardresearch
 

टेरर मॉड्यूल: कोई ड्राई फ्रूट का व्यापारी, कोई ड्राइवर..जानें कौन हैं पकड़े गए 6 संदिग्ध

दिल्ली, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में सीरियल ब्लास्ट की साजिश रची जा रही थी. साजिश रच रहे 6 संदिग्धों को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को दबोच लिया.

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा
  • दिल्ली, महाराष्ट्र और यूपी में ब्लास्ट की साजिश थी
  • पाक खुफिया एजेंसी ISI और अंडरवर्ल्ड ने रची थी साजिश

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को बड़े टेरर मॉड्यूल का पर्दाफाश करते हुए 6 संदिग्ध लोगों को पकड़ा. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल का कहना है कि त्योहारों का सीजन (दशहरा, नवरात्र, रामलीला) इनकी हिट लिस्ट में था, जिसमें किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दिया जाना था.

पकड़े गए संदिग्ध आतंकियों में जीशान, ओसामा, आमिर जावेद, जान मोहम्मद, मूलचंद उर्फ लाला, अबू बकर शामिल हैं. इनको स्पेशल सेल ने दिल्ली समेत, यूपी के अलग-अलग जगहों पर छापा मारकर पकड़ा. पकड़े गए संदिग्ध कहां रहते हैं, क्या करते हैं यहां जानिए - 

जीशान कमर: इसे उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया. जीशान (उम्र 28 साल) ने एमबीए किया हुआ है और दुबई में अकाउंटेंट के तौर पर काम कर चुका है. फिर कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन में वह घर आया था. यहां वह अब खजूर का बिजनेस कर रहा था.

जीशान कमर

आमिर जावेद: इसे यूपी के लखनऊ से अरेस्ट किया गया. आमिर जावेद (31 साल) जीशान का रिश्तेदार है. आमिर सऊदी अरब के जेद्दा में कई साल काम कर चुका है. वह मजहबी शिक्षा भी देता था. आमिर जावेद के पिता और भाई को अभी भरोसा नहीं है कि उनके बेटे का कोई अंडरवर्ल्ड या टेरर कनेक्शन है. ढाई साल पहले आमिर की शादी हुई थी. घरवालों का कहना है कि बेटा तो अपने काम से काम रखता था. सुबह काम पर जाता और शाम को सीधा घर आता था.

आमिर जावेद

जान मोहम्मद: पेशे से एक ड्राइवर है. जान मोहम्मद शेख (47) उर्फ ‘समीर’ को साल 2001 में असॉल्ट के एक मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है. जान मोहम्मद का परिवार मध्य मुंबई के सायन में रहता है. कई सालों से यहां रह रहा है और करीब एक दशक पहले उसके माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है.

जान मोहम्मद

मूलचंद उर्फ लाला: बताया गया है कि लाला के तार अंडरवर्ल्ड से जुड़े थे, लाला (47 साल) डी-कंपनी के संपर्क में था. इधर वह किसानी करता था.

मूलचंद उर्फ लाला

अबू बकर: यह बहराइच का रहने वाला है. जेद्दा में काम करता था फिर कुछ साल पहले वापस लौट आया था. साल 2013 में उसने देवबंद में मदरसे में शिक्षा ली थी. बहराइच के कैसरगंज इलाके में अबू बकर (उम्र 23 साल) अपने भाई मोहम्मद उमर के साथ रहता था. इनके पिता सुन्ना खान सऊदी के जेद्दा शहर में पिछले कई सालों से रह रहे हैं. मोहम्मद उमर ने अपने भाई को बेकसूर बताया है. अबू बकर शादीशुदा है और उसकी एक बच्ची भी है.

अबू बकर

ओसामा: दिल्ली से गिरफ्तार ओसामा का परिवार ड्राई फ्रूट का काम करता है. इस वजह से ओसामा (उम्र 22 साल) मिडिल ईस्ट के देशों में कई बार व्यापार के सिलसिले में जाता रहा है. आरोप है कि आतंकी ट्रेनिंग के लिए वह पहले मस्कट गया और फिर पानी के रास्ते पाकिस्तान पहुंचा.

ओसामा

जानकारी के मुताबिक, ये संदिग्ध आतंकी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और अंडरवर्ल्ड की आतंकी साजिश में उनका साथ दे रहे थे. अंडरवर्ल्ड का एक खेमा जिसको अनीस इब्राहिम चला रहा है, उसने यह पूरी साजिश रची थी. फिलहाल पुलिस को सभी 6 संदिग्धों की 14 दिन की रिमांड मिल गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें