scorecardresearch
 

मुख्तार अंसारी को जेल में जान का खतरा, हो रहा है मानसिक उत्पीड़न, परिवार का आरोप

मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी ने बांदा जेल प्रशासन पर आरोप लगाया है कि उनके पिता का मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है. बैरक के अंदर और बाहर तो सीसीटीवी कैमरे लगाए ही गए हैं, बाथरूम तक तीसरी आंख की जद में है.

मऊ सदर सीट से विधायक मुख्तार अंसारी (फाइल फोटोः पीटीआई) मऊ सदर सीट से विधायक मुख्तार अंसारी (फाइल फोटोः पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्तार की पत्नी और बेटे ने एमपी-एमएलए कोर्ट में लगाई अर्जी
  • यूपी की बांदा जेल में बंद है मऊ का बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी

पूर्वी उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की मऊ सदर विधानसभा सीट से विधायक मुख्तार अंसारी बांदा जेल में बंद है. मुख्तार अंसारी को कड़ी सुरक्षा वाली बांदा जेल में रखा गया है. मुख्तार की पत्नी और बेटे ने सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं. मुख्तार की पत्नी और बेटे ने उनकी सुरक्षा को लेकर एमपी एमएलए की स्पेशल कोर्ट में याचिका दायर किया है.

जानकारी के मुताबिक मुख्तार अंसारी की पत्नी अफसां अंसारी और बेटे उमर अंसारी ने स्पेशल कोर्ट एमपी एमएलए में याचिका दाखिल किया है. इस याचिका में कहा गया है कि जेल के अंदर मुख्तार अंसारी की जान को खतरा है. मुख्तार अंसारी की पत्नी और बेटे ने स्पेशल कोर्ट एमपी एमएलए के समक्ष याचिका दायर कर न केवल मुख्तार की जान को खतरा बताया है  बल्कि मानसिक उत्पीड़न का आरोप भी लगाया है.

मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी ने बांदा जेल प्रशासन पर आरोप लगाया है कि उनके पिता का मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है. उमर ने आरोप लगाया है कि बैरक के अंदर और बाहर तो सीसीटीवी कैमरे लगाए ही गए हैं, बाथरूम तक तीसरी आंख की जद में है. इससे मुख्तार अंसारी को परेशानी हो रही है. पत्नी और बेटे की ओर से दायर इस याचिका में और भी आरोप लगाए गए हैं.

मुख्तार अंसारी की पत्नी ने अर्जी में सीसीटीवी फुटेज गेट बुक का रिकॉर्ड मांगने की मांग की है. साथ ही उन्होंने ये आरोप भी लगाया है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित मेडिकल टीम की ओर से कोई भी स्वास्थ्य जांच नहीं की गई. इस अर्जी पर एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट के जज आलोक कुमार श्रीवास्तव ने जेल अधीक्षक को पत्र भेजकर मुख्तार अंसारी की सुरक्षा को खतरा न हो, ऐसे इंतजाम करने के लिए कहा है.

गौरतलब है कि पूर्वांचल का बाहुबली विधायक पंजाब के रोपण की जेल में बंद था. मुख्तार को यूपी भेजे जाने का अनुरोध पंजाब सरकार की ओर से बार-बार ठुकराए जाने के बाद यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुख्तार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बांदा लाया गया. मुख्तार अंसारी कड़ी सुरक्षा वाली बांदा जेल में बंद है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें