scorecardresearch
 

लखीमपुर खीरी हिंसा: घटना में शामिल रहे आशीष पांडे और लवकुश गिरफ्तार, घटनास्थल से मिले खाली कारतूस

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामलेे में आशीष पांडे और लव कुश को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है. इस घटना में आशीष पांडे और लव कुश भी शामिल थे और दोनों घायल भी हुए थे.

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में आठ लोगों की जान चली गई थी. (फाइल फोटो) लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में आठ लोगों की जान चली गई थी. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कारतूस की फॉरेंसिक जांच की जाएगी.
  • आशीष पांडे व लवकुश भी हुए थे घायल

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामलेे में आशीष पांडे और लव कुश को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है. इस घटना में आशीष पांडे और लव कुश भी शामिल थे और दोनों घायल भी हुए थे. दोनोंं से आईजी रेंज ने पूछताछ की. पुलिस को  घटनास्थल से  2 मिस हुए 315 के कारतूस भी मिले थे. कारसतूस की फारेंसिक जांच भी की जाएगी. घटना में नामजद आशीष मिश्रा के साथ छह अन्य आरोपियों के भी नाम सामने आए थे.  कुल 7 आरोपियों में तीन की मौत हो चुकी है. दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

लखीमपुर खीरी की घटना के बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी सख्त जाहिर की है. कोर्ट के सख्त रुख अख्तियार करने से यूपी पुलिस की सक्रियता बढ़ती नजर आई है. पुलिस ने आशीष पांडे और लव कुश नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. दोनों पर उस गाड़ी में मौजूद रहने का आरोप है जो जीप थार के पीछे-पीछे चल रही थी. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें नजर आ रहा है कि जीप थार कुछ लोगों को रौंदते हुए आगे बढ़ रही है. इस मामले के सामने आने के बाद सियासत भी तेज हो गई है, साथ ही बीजेपी सांसद के बेटे की गिरफ्तारी की मांग तेज हो गई है.

इससे पहले प्रियंका गांधी ने आज (गुरुवार) को कहा कि लखीमपुर कांड के दोषियों को अभी तक न्याय नहीं मिला, न्याय कैसे मिलेगा अगर वे गृहराज्य मंत्री रहेंगे. ये सब उनके अंडर आता है न. जबतक वे बर्खास्त नहीं होंगे निष्पक्ष जांच कौन करेगा? तीनों परिवारों ने एक ही बात कही कि मुआवजे से मतलब नहीं है, हमें न्याय चाहिए. प्रियंका ने आगे कहा, 'इसके लिए मैं लडूंगी. जबतक ये मंत्री बर्खास्त नहीं होंगे और जबतक ये लड़का गिरफ्तार नहीं होगा तबतक मैं बिल्कुल अडिग रहूंगी क्योंकि मैंने उन परिवारों को वचन दिया है. सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज के अंडर जांच होनी चाहिए. नैतिक आधार पर मंत्री इस्तीफा दें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें