scorecardresearch
 

हाथरस गोलीकांड के आरोपी पर 1 लाख का इनाम, पीड़िता बोली- डर कर जी रहे हम, उसका एनकाउंटर करो

पुलिस द्वारा हाथरस कांड के मुख्य आरोपी गौरव पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है. इसके अलावा 2 अन्य आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया है.

पीड़िता ने आरोपी के एनकाउंटर की मांग की है. पीड़िता ने आरोपी के एनकाउंटर की मांग की है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीड़िता बोली- आरोपी का हो एनकाउंटर
  • पुलिस ने मुख्य आरोपी पर एक लाख का इनाम घोषित किया
  • पीड़िता का सवाल- आरोपी को क्यों नहीं पकड़ रही पुलिस

उत्तर प्रदेश के हाथरस में बदमाशों की गोली का शिकार बने अमरीश के हत्यारों पर अब इनाम घोषित हो गया है. पुलिस द्वारा हाथरस कांड के मुख्य आरोपी गौरव पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है. इसके अलावा 2 अन्य आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया है. बता दें कि हाथरस में बेटी के साथ हुई छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराने पर बदमाशों ने अमरीश की हत्या कर दी थी.  

मृतक अमरीश की बेटी द्वारा इस पूरे मामले पर बयान भी दिया गया है. लड़की ने कहा कि दो दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक पुलिस ने मेरे पिता के हत्यारे गौरव को नहीं पकड़ा है. हमें डर है कि वो हमपर ही हमला कर सकता है, उसके ऊपर नेताओं का हाथ है.

लड़की ने सवाल किया कि आखिर पुलिस आरोपी को क्यों नहीं पकड़ रही है, उसका एनकाउंटर होना चाहिए. हमारे घर तो पुलिस तैनात है, लेकिन जब पुलिस चली जाएगी तो कौन हमें बचाएगा. लड़की ने कहा कि आरोपी समाजवादी पार्टी का है, उसका वीडियो भी सामने आया है. 

वहीं, लड़की की मां द्वारा बताया गया है कि आरोपियों द्वारा उनपर भी गोली चलाई गई थी. लड़की की मां का कहना है कि मेरे पर गोली चलाई थी, लेकिन मैं नाली में गिर गई इस वजह से बच गई. पीड़िता की मां बोली कि आरोपी पहले दूर खड़ा था, लेकिन फिर उसने पास आकर गोली मार दी. 

क्या है मामला

मामला हाथरस जिले के थाना सासनी क्षेत्र का है. गांव नौजरपुर में सोमवार की देर शाम अमरीश अपने खेत में आलू की खुदाई करा रहे थे. तभी चार हमलावरों ने अमरीश को गोलियों से भून डाला. अमरीश अपने खेत में जमीन पर लहूलुहान पड़े थे. आनन-फानन में लोगों ने अमरीश को अस्पताल पहुंचाया. लेकिन अस्पताल ले जाने के दौरान अमरीश की मौत हो गई. 

इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक हाथरस विनीत जयसवाल ने बताया था कि ढाई साल पहले जुलाई 2018 में अमरीश द्वारा छेड़छाड़ की एक रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. जिसमें गौरव शर्मा नाम के व्यक्ति जेल भी गया था.

गौरव एक महीने बाद जमानत पर बाहर आ गया था. मृतक के परिवार का कहना है उनकी पुरानी रंजिश चली आ रही थी. 1 मार्च को गांव के मंदिर में मृतक की बेटी मौजूद थी तभी गौरव शर्मा, उसकी पत्नी और उसकी मौसी मंदिर में आए और इनका आपस में झगड़ा हुआ. इसके बाद गौरव शर्मा नाम के शख्स ने अपने परिवार के तीन लोगों के साथ अमरीश को खेत में जाकर गोली मार दी.पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें