scorecardresearch
 

UP: सीएम का OSD होने का दावा कर अफसरों पर रौब जमाता था जालसाज, पुलिस ने ऐसे पकड़ा

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखनऊ (Lucknow) में पुलिस (Police) ने एक जालसाज (Fraud) को गिरफ्तार (Arrest) किया है. यह शख्स मुख्यमंत्री (CM) का ओएसडी (OSD) बनकर अफसरों से गलत काम कराने की कोशिश में जुटा था.

X
पुलिस की गिरफ्त में आया जालसाज. पुलिस की गिरफ्त में आया जालसाज.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पहले भी कई लोगों से ऐंठ चुका है पैसे
  • अपने गांव का प्रधान रह चुका है आरोपी
  • अफसरों पर जमाता था रौब

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखनऊ (Lucknow) में पुलिस (Police) ने एक जालसाज (Fraud) को गिरफ्तार (Arrest) किया है. यह शख्स मुख्यमंत्री (CM) का ओएसडी (OSD) बनकर अफसरों से गलत काम कराने की कोशिश में जुटा था. लखनऊ पुलिस ने गौतमपल्ली इलाके से शख्स को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार जालसाज ने मुख्यमंत्री के ओएसडी अभिषेक कौशिक के नाम पर पीडब्ल्यूडी सचिव समीर वर्मा को फोन किया था.

ऐसे खुली जालसाज की पोल

सरकारी सीयूजी सीरीज के नंबर 9454419789 से कॉल कर अफसरों पर रौब जमाने वाला जालसाज खुद को मुख्यमंत्री का विशेष कार्याधिकारी यानी अभिषेक कौशिक बताता था. अभिषेक कौशिक के नाम पर 13 जुलाई की शाम 5.36 पर सीयूजी सीरीज के इस नंबर से पीडब्ल्यूडी सचिव समीर वर्मा के नंबर पर आई कॉल में एक ठेकेदार का काम करने को कहा गया.

समीर वर्मा को शक हुआ तो उन्होंने तत्काल सीएम के ओएसडी अभिषेक कौशिक के पर्सनल नंबर पर कॉल कर बात की तो पता चला अभिषेक कौशिक ने कोई कॉल ही नहीं की थी. किसी जालसाज ने उनके नाम का गलत इस्तेमाल किया था.

घटना की जानकारी होते ही अभिषेक कौशिक ने इस मामले में गौतमपल्ली थाने में एफआईआर दर्ज करा दी. मामला मुख्यमंत्री के ओएसडी से जुड़ा था लिहाजा आनन-फानन में लखनऊ क्राइम ब्रांच को लगाया गया. जिस सीयूजी सीरीज के नंबर से कॉल आई थी उसकी कॉल डिटेल खंगाली गई सर्विलांस पर लिया गया और जालसाज गिरफ्तार कर लिया गया.

इसपर भी क्लिक करें- होने वाला था तलाक, पति ने की दूसरी शादी, बॉम्बे HC में पहुंचा यह मुश्किल केस

पूर्व प्रधान है आरोपी

गौतम पल्ली पुलिस ने सीतापुर के शादीपुर उमरी गांव के रहने वाले कुंवर नीरज चौधरी को गिरफ्तार किया है. पूछताछ की गई तो पता चला नीरज चौधरी पहले भी कई अफसरों को इसी सीयूजी नंबर से फोन करता था और लोगों से पैसा ऐंठ रहा था. पकड़ा गया नीरज चौधरी अपने गांव का पूर्व प्रधान है. सीतापुर के बीएसएनएल विभाग में परिचितों की मदद से उसने सरकारी सीयूजी नंबर हासिल किया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें