scorecardresearch
 

दिल्लीः NIA अफसर बनकर वसलूता था रंगदारी, पीड़ित महिला की शिकायत पर गिरफ्तार

अधिकारियों ने बताया कि आरोपी ने सोशल मीडिया और वैवाहिक वेबसाइट पर कई फर्जी प्रोफाइल बना रखे थे. वहां उसने खुद को एक एनआईए अधिकारी के रूप में दर्शा रखा था. कथित तौर पर आरोपी के कई महिलाओं के साथ संबंध भी थे.

फर्जी एनआईए अफसर के पास से एक नकली आईडी कार्ड भी बरामद हुआ है फर्जी एनआईए अफसर के पास से एक नकली आईडी कार्ड भी बरामद हुआ है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एनआईए अफसर बनकर करता था लोगों से ठगी
  • आईबी के रिटार्यड एसआई का बेटा है आरोपी
  • आरोपी के पास मिला NIA का फेक आई कार्ड


दिल्ली पुलिस और एनआईए ने एक संयुक्त ऑपरेशन के तहत एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो खुद को एनआईए अधिकारी बताकर लोगों के साथ धोखेबाजी करता था. आरोपी के बारे में एक पीड़ित महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी. उस महिला को आरोपी ने ठगी का शिकार बनाया था.

इस संबंध में जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि आरोपी ने सोशल मीडिया और वैवाहिक वेबसाइट पर कई फर्जी प्रोफाइल बना रखे थे. वहां उसने खुद को एक एनआईए अधिकारी के रूप में दर्शा रखा था. कथित तौर पर आरोपी के कई महिलाओं के साथ संबंध भी थे.

आरोपी की पहचान नीतक रावत के रूप में हुई है, जो एनआईए के नाम पर रंगदारी वसूल रहा था. जबरन वसूली के अलावा वो एनआईए अधिकारी के रूप में अपने प्रभाव का उपयोग करके आम लोगों की मदद करने के नाम पर उनसे पैसे लिया करता था.

मंदसौरः CCTV में कैद हुआ लाइव मर्डर, चाकू के वार से तड़पता रहा युवक 

अधिकारियों के मुताबिक नीतक रावत अल्मोड़ा, उत्तराखंड का रहने वाला है. उसके पिता आईबी में सब इंस्पेक्टर थे, जो वर्ष 2016 में सेवानिवृत्त हुए थे. 20 साल की उम्र के दौरान नीतक ने 2015 में दिल्ली विश्वविद्यालय से एमबीए किया था. 

वह 2009 से दिल्ली में रह रहा है. अक्टूबर 2019 से वह दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके में रहता है. गिरफ्तारी के बाद उसके कब्जे से एनआईए का एक फर्जी आई कार्ड भी बरामद हुआ है. जिस पर उसका पद लीगल एडवाइजर लिखा हुआ है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें