scorecardresearch
 

बंगाल में नहीं थम रहा हिंसा का 'खेला', बीजेपी समर्थकों की हत्या, टीएमसी पर आरोप

पश्चिम बंगाल में नतीजे आने के बाद से शुरू हुआ हिंसा का दौर अब भी नहीं थमा है. मंगलवार को बंगाल में दो और बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या का मामले सामने आया है. बीजेपी ने इसके लिए टीएमसी पर आरोप लगाया है.

बीजेपी का दावा, हिंसा में उसके अब तक 9 कार्यकर्ता मारे गए. (प्रतीकात्मक तस्वीर) बीजेपी का दावा, हिंसा में उसके अब तक 9 कार्यकर्ता मारे गए. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिनहाता में दो बीजेपी समर्थकों की हत्या
  • अब तक हिंसा में कई लोग मारे गए
  • पीएम मोदी ने हिंसा पर जताई चिंता

पश्चिम बंगाल में नतीजे आने के दो दिन बीत जाने के बाद भी हिंसा का 'खेला' थम नहीं रहा है. मंगलवार को बंगाल में दो और बीजेपी समर्थकों की हत्या का मामला सामने आया है. दोनों ही हत्याएं कोच बिहार के दिनहाता में हुई है. बीजेपी ने इसके लिए टीएमसी पर आरोप लगाया है. 

आज जिन दो लोगों की हत्या हुई, उनके नाम चंदन रॉय और हरधन रॉय हैं. दोनों की हत्या कोच बिहार के दिनहाता में ही हुई है. बीजेपी ने इन दोनों ही हत्याओं के पीछे टीएमसी का हाथ बताया है. बीजेपी ने आज एक लिस्ट भी जारी की है, जिसमें पार्टी ने बताया है कि पिछले 36 घंटे में बंगाल में उसके 9 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई. 

बीजेपी ने बताया कि जगद्दाल में शोवा रानी मंडल, रानाघाट में उत्तम घोष, बेलेघाटा में अभिजीत सरकार, सोनारपुर दक्षिण में होरोम अधिकारी, सितलकुची में मोमिक मोइत्रा, बोलपुर में गौरव सरकार, सितलकुची में मिंटू बरमान और दिनहाता में हरधन रॉय और चंदन रॉय की हत्या हुई है.

इस बीच बंगाल में नतीजों के बाद से ही हिंसा का दौर शुरू हो गया है. कई लोग मारे जा रहे हैं. जगह-जगह आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं हो रही हैं. इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी चिंता जाहिर की है. उन्होंने आज बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ से फोन पर बात की. वहीं, सीएम ममता बनर्जी ने भी शाम को कोलकाता पुलिस कमिश्नर, बंगाल पुलिस के डीजी, गृह सचिव और चीफ सेक्रेटरी को मीटिंग के लिए बुलाया है. 

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा आज और कल बंगाल दौरे पर हैं. हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिजनों से मिल रहे हैं.

बंगाल में नतीजे आने के बाद से अब तक 10 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. इनमें सिर्फ बीजेपी समर्थक ही शामिल नहीं है. बल्कि टीएमसी और दूसरी पार्टियों के समर्थक भी शामिल हैं. सोमवार को बर्दवान में टीएमसी के तीन कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई थी. वहीं, उत्तर 34 परगना में इंडियन सेक्युलर फ्रंट के एक कार्यकर्ता की भी जान जा चुकी है.

बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि जब तक राज्य में हिंसा नहीं थमती, तब तक ममता बनर्जी का शपथ ग्रहण समारोह नहीं होना चाहिए. ममता बुधवार को सीएम पद की शपथ लेने वाली हैं.

हिंसा का मामला सुप्रीम कोर्ट भी जा पहुंचा है. बीजेपी नेता और वकील गौरव भाटिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर हिंसा की सीबीआई जांच कराने की मांग की है. हिंसा पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी स्वतः संज्ञान लिया है. आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा बंगाल का दौरा भी करने वाली हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें