scorecardresearch
 

बेटे पर फायरिंग में उसका साला गिरफ्तार, जानिए क्या बोले BJP सांसद कौशल किशोर

पुलिस के मुताबिक, सांसद के बेटे ने कुछ लोगों को फंसाने के लिए अपने साले से खुद पर चलवाई गोली चलवाई थी. पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया है.

बीजेपी सांसद कौशल किशोर (फाइल फोटो) बीजेपी सांसद कौशल किशोर (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी सांसद के बेटे पर फायरिंग में बड़ा खुलासा
  • पुलिस बोली- बेटे ने अपने साले से खुद चलवाई गोली

उत्तर प्रदेश के मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर के बेटे पर हुई फायरिंग के केस में हैरतअंगेज खुलासा हुआ है. पुलिस के मुताबिक, सांसद के बेटे ने कुछ लोगों को फंसाने के लिए अपने साले से खुद पर चलवाई गोली चलवाई थी. पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया है. इसके साथ ही सांसद के बेटे से पूछताछ की तैयारी की जा रही है.

इस बीच सांसद कौशल किशोर ने कहा, 'मेरे बेटे ने जो मुझे बताया उसके मुताबिक उस पर सुबह कुछ हमलावरों ने फायरिंग की है, अब अगर उसका साला खुद ही फायरिंग की बात कबूल रहा है तो वो गलत है, मैं भी अपने बेटे से संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूं, मुझे इस घटना को लेकर कोई जानकारी नहीं, मेरा किसी से पारिवारिक विवाद नहीं है.'

बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने कहा, 'मैंने अभी कोई तहरीर नहीं दी है, मैं चाहता हूं कि पुलिस मामले की सही तरीके से जांच करे और कोई निर्दोष व्यक्ति न फंसे. अगर मेरे बेटे ने साजिश करके खुद पर गोली चलवाई है तो उसने गलत किया है. वह मेरे साथ नहीं रहता है. कभी कभार घर पर मिलने के लिए आ जाता था.'

क्या है पूरा मामला
लखनऊ के मड़ियाव क्षेत्र में देर रात को हड़कंप मच गया. खबर आई कि सत्ताधारी दल बीजेपी के सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष को किसी ने गोली मार दी है. दावा किया गया कि 30 साल के आयुष अपने साले के साथ सड़क पर टहल रहे थे तभी मडियाव क्षेत्र के छठामील चौराहे पर अपराधियों ने इस वारदात को अंजाम दिया.

हालांकि, यह मामला संदिग्ध लग रहा था, क्योंकि वारदात के कई घंटे बाद तक पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई थी. खैर गोली लगने से जख्मी आयुष को लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया लेकिन इलाज के थोड़ी देर बाद ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. इससे और शक गहरा गया.

शक के बादल ज्यादा देर नहीं टिके. पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने आजतक से बातचीत में पूरी साजिश का खुलासा कर दिया. कमिश्नर के मुताबिक, आयुष ने खुद ही अपने ऊपर गोली चलवाई थी. इस बात को खुद आयुष के साले आदर्श ने कबूल कर लिया है. आरोपी के मुताबिक, सांसद के बेटे ने कहा था कि किसी को फंसाना है.

आरोपी आदर्श के मुताबिक, आयुष की चंदन गुप्ता, मनीष जायसवाल और प्रदीप कुमार सिंह से कोई दुश्मनी थी, इसलिए इन लोगों को फंसाने के लिए साजिश रची गई थी. साज़िश के तहत हमला करवाकर उनके ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कराये जाने का प्लान था. सांसद के बेटे आयुष और साले आदर्श ने मिलकर साज़िश रची थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें