scorecardresearch
 

पुलिसकर्मियों ने चोरी की रकम हड़पी, एसएसपी ने 4 को निलंबित कर भेजा जेल

चोरों ने बताया कि जब वे 15 अक्टूबर को चोरी करके भाग रहे थे, तो उन्हें सिरसागंज पुलिस पकड़ लिया और उनकी तलाशी कर रकम छीन ली.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फिरोजाबाद के रसूलपुर का मामला
  • 15 अक्टूबर को चोरों ने ई रिक्शा से पार की थी रकम
  • सिरसागंज थाने की पुलिस ने चोरों से छीनी रकम

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में खाकी एक बार फिर शर्मसार हुई है. यहां के सिरसागंज थाने में तैनात चार पुलिसकर्मियों को चोरी की रकम हड़पने के आरोप में निलंबित कर जेल भेज दिया गया है. बताया जा रहा है कि इन पुलिसकर्मियों ने चोरों से 96 हजार वसूलकर उन्हें छोड़ दिया. लेकिन जब इन चोरों को दोबारा गिरफ्तार किया गया तो इस घटना का खुलासा हुआ. 

घटना 15 अक्टूबर की है. यहां एक व्यापारी ई रिक्शा पर बैठकर दुकानों पर माल दे रहा था. जब ई रिक्शा चालक और व्यापारी रसूलपुर इलाके में स्थित एक दुकान में माल देने उतरा, तो दो चोरों ने ई-रिक्शे में सीट के नीचे रखे 1 लाख 10 हजार रुपए चुरा लिए. व्यापारी ने रसूलपुर थाने में मामला दर्ज कराया. 

सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए चोर

पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की, तो सीसीटीवी फुटेज में दोनों चोरों की तस्वीर सामने आ गई. पुलिस ने दोनों चोरों प्रियांशु और ओमवीर को गिरफ्तार कर लिया. लेकिन पूछताछ में चोरों ने जो पुलिस को बताया, उससे उनके भी होश उड़ गए. 

चोरों ने बताया कि जब वे 15 अक्टूबर को चोरी करके भाग रहे थे, तो उन्हें सिरसागंज पुलिस पकड़ लिया और उनकी तलाशी कर रकम छीन ली. दोनों चोरों ने बताया कि उन्हें 1 लाख रुपए की रकम सड़क पर गिरी मिली है. पुलिसकर्मियों ने 96 हजार रुपए छीन लिए और चार हजार वापस करके भगा दिया. 

एसएसपी ने चारों पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

जब थाना रसूलपुर पुलिस ने सिरसागंज थाने से जानकारी ली तो पता लगा कि सिरसागंज पुलिस उप निरीक्षक सुनील चंद्र, आरक्षी राजेश कुमार, आरक्षी सुरेंद्र कुमार, चालक विष्णु बलकृष्ण ने चोरों से पैसे वसूले थे. जैसे ही यह जानकारी एसएसपी अशोक कुमार शुक्ला को हुई तो उन्होंने चारों पुलिसकर्मियों को पूछताछ के लिए बुलाया और पुलिसकर्मियों ने अपना जुर्म कबूला. इसके बाद एसएसपी अशोक कुमार शुक्ला ने चारों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया. एसएसपी के अनुसार, चारों पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×