scorecardresearch
 

ईसाई धर्म प्रचारक पॉल दिनाकरन पर IT का शिकंजा, 118 करोड़ की अवैध संपत्ति का खुलासा

चेन्नई और कोयंबटूर में दिनाकरन की संस्था 'Jesus Calls' से जुड़े 25 ठिकानों पर 20 जनवरी को छापा मारा गया था. दिनाकरन इस क्रिश्चियन मिशनरी के प्रमुख हैं. इसका कामकाज कई देशों में फैला हुआ है. 

20 जनवरी को हुई थी छापेमारी (सांकेतिक फोटो) 20 जनवरी को हुई थी छापेमारी (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 20 जनवरी को छापा मारा गया था
  • घर से 4.7 किलो सोना भी मिला है
  • बरामद दस्तावेजों की पड़ताल जारी

तमिलनाडु के ईसाई धर्म प्रचारक पॉल दिनाकरन के ठिकानों से 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक दिनाकरन की संस्थाओं पर कर चोरी का आरोप है. आयकर विभाग ने उनके 25 ठिकानों पर छापेमारी की थी. 

पीटीआई के मुताबिक, चेन्नई और कोयंबटूर में दिनाकरन की संस्था 'Jesus Calls' से जुड़े 25 ठिकानों पर 20 जनवरी को छापा मारा गया था. दिनाकरन इस क्रिश्चियन मिशनरी के प्रमुख हैं. इसका कामकाज कई देशों में फैला हुआ है. वो करुण्य यूनिवर्सिटी के चांसलर भी हैं. 

सूत्रों के मुताबिक, दिनाकरन के ठिकानों पर छापे की कार्रवाई शनिवार को खत्म हो गई. आयकर विभाग को कोयंबटूर में दिनाकरन के आवास से 4.7 किलो सोना भी मिला है, जिसे जब्त कर लिया गया है. छापे के दौरान मिले दस्तावेजों की पड़ताल की जा रही है. 

बताया जा रहा है कि पॉल दिनाकरन के पास अघोषित आय को लेकर आयकर विभाग ने बड़े पैमाने पर तैयारी की थी. विभाग ने 20 जनवरी को सुबह 6 बजे उनके ठिकाने पर दबिश दी. इस पड़ताल में 200 से ज्यादा आयकर अधिकारी मौजूद थे. जीसस कॉल्स मिनिस्ट्रीज और करुण्य यूनिवर्सिटी की स्थापना उनके पिता डीजीएस दिनाकरन ने की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें