scorecardresearch
 

गुरुग्राम: विधायकों को मिल रही धमकी का कनेक्शन पाकिस्तान से, STF ने गिरफ्तार किए 6 बदमाश

हरियाणा और पंजाब के कुछ विधायकों को मिल रही फिरौती एवं जान से मारने की धमकी के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. इसके तार पाकिस्तान से जुड़े पाए गए हैं. एसटीएफ ने लगातार तफ्तीश करने के बाद देश के कई हिस्सों में छापे मारे और 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है.

X
एसटीएफ ने पकड़े 6 बदमाश एसटीएफ ने पकड़े 6 बदमाश
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम को भी मिली धमकी
  • 73 एटीएम कार्ड, 34 मोबाइल फोन बरामद

पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम से लेकर हरियाणा तक के कुल 7 विधायकों को हाल में फिरौती और जान से मारने की धमकियां मिली. इसके बाद हरकत में आई एसटीएफ ने मामले की जांच गहराई से की और अब इन धमकियों के पीछे का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आया है. इतना ही नहीं एसटीएफ ने अपनी लंबी तफ्तीश के बाद देश के कई हिस्सों में छापे मारे और अब 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है.

7 विधायकों को मिली धमकियां 

हरियाणा के 4 मौजूदा विधायकों और एक विधायक के बेटे को 24 से 28 जून के बीच फिरौती देने की धमकी मिली. फिरौती नहीं देने के एवज में उन्हें जान से मारने की भी धमकी दी गई. ऐसी ही धमकी पंजाब के दो विधायकों को भी मिली, जिसमें से एक पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम भी रह चुके हैं. विधायकों से एक लाख रुपये से लेकर 1 करोड़ रुपये तक की फिरौती मांगी गई. सोनीपत के विधायक सुरेन्द्र पंवार से जहां एक लाख रुपये, तो उनके बेटे से 1 करोड़ रुपये की मांग की गई. वहीं सुभाष गंगोली नाम के विधायक से पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी गई. विधायिका रेणु बाला और पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम ओ.पी. सोनी और एक अन्य विधायक को भी धमकियां मिलीं.

पाकिस्तान कनेक्शन का खुलासा

इस बारे में हरियाणा एसटीएफ के एसपी सुमित कुमार ने जानकारी दी कि विधायकों को मिली धमकी मामले में पाकिस्तानी कनेक्शन मिला है. पाकिस्तान में बैठे शातिर लोग वीपीएन के माध्यम से दुबई के नंबरों का इस्तेमाल कर विधायकों को धमकी दे रहे थे. एसटीएफ ने पाकिस्तान में बैठे जालसाजों के भारतीय कनेक्शन का पर्दाफाश करते हुए 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है. एसटीएफ ने मामले में टेक्निकली जांच की. पिछले 8 दिन में देश के अलग-अलग राज्यो में रेड मारी गई. इसके बाद पुलिस ने मुम्बई से दो बदमाश दुलेश आलम और बदरे आलम को गिरफ्तार किया. वहीं 4 आरोपी अमित यादव, सनोज, सादिक और कैश आलम को बिहार के मुजफ्फरपुर से गिरफ्तार किया गया है.

बदमाशों से बरामद फोन, सिम कार्ड
बदमाशों से बरामद फोन, सिम कार्ड

एसटीएफ का कहना है कि फिरौती की मांग नामी गैंगस्टरों के नाम से की जा रही थी. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वो नीरज बवाना, लॉरेन्स बिश्नोई और पंजाब के में बैठे गैंगस्टरों के नाम से वीपीएन के माध्यम से धमकी देते आ रहे हैं. इसके लिए वह दुबई के नंबरों को इस्तेमाल करते थे. आरोपियों ने बताया कि फिरौती से वसूले पैसे में वो अपना हिस्सा अलग रखकर आरोपी अमित यादव और दुलेश आलम द्वारा बताए अकाउंट्स में ट्रांसफर कर देते थे. 

73 एटीएम कार्ड, 34 मोबाइल फोन बरामद

एसटीएफ ने इन 6 बदमाशों को गिरफ्तार कर 8 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है. इनके कब्जे से 57 सिम कार्ड, 34 मोबाइल फोन, 73 एटीएम कार्ड, 24 फर्जी अकाउंट्स की पासबुक और एक गाड़ी बरामद की गई है. एसटीएफ ने 40 फर्जी अकाउंट्स के साथ-साथ 50 से ज्यादा ऐसे फर्जी अकाउंट्स की पहचान भी की है जिसे जालसाजी के बाद बंद कर दिया गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें