scorecardresearch
 

सागर हत्याकांड मामले में आरोपी प्रवीण डबास भी गिरफ्तार, अब तक 15 की हुई गिरफ्तारी

गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम प्रवीण डबास है जो सुशील कुमार (Sushil Kumar) का बेहद करीबी साथी बताया जा रहा है. क्राइम ब्रांच ने प्रवीण डबास नाम के इस आरोपी को दिल्ली के रोहिणी इलाके से गिरफ्तार किया है. सागर धनकड़ हत्याकांड में यह 15वीं गिरफ्तारी है.

सुशील कुमार का एक और सहयोगी गिरफ्तार (फाइल फोटो) सुशील कुमार का एक और सहयोगी गिरफ्तार (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सागर हत्याकांड मामलें में एक और गिरफ्तारी
  • दिल्ली के रोहिणी से आरोपी प्रवीण डबास गिरफ्तार
  • पहलवान सुशील कुमार का है करीबी

सागर धनकड़ हत्याकांड (Sagar Dhankar Murder case) मामले में रविवार को एक और आरोपी गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम प्रवीण डबास है जो सुशील कुमार (Sushil Kumar) का बेहद करीबी साथी बताया जा रहा है. क्राइम ब्रांच ने प्रवीण डबास नाम के इस आरोपी को दिल्ली के रोहिणी इलाके से गिरफ्तार किया है. सागर धनकड़ हत्याकांड में यह 15वीं गिरफ्तारी है.

इससे पहले शनिवार को भी एक गिरफ्तारी हुई थी. गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम अनिल है जो सुशील कुमार (Sushil Kumar) का बेहद करीबी साथी बताया जा रहा है. सागर धनकड़ हत्याकांड मामले में आरोपी अनिल फरार चल रहा था. उसपर 50 हजार का इनाम रखा गया था. स्पेशल सेल ने आरोपी अनिल को दिल्ली के नजफगढ़ इलाके से गिरफ्तार किया. सागर हत्याकांड मामले में अनिल के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज है. 

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच 3 अगस्त को इस मामले में चार्जशीट दाखिल करेगी. ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार हत्याकांड का मास्टरमाइंड है. सूत्रों के मुताबिक सागर हत्याकांड का मोटिव सुशील और सागर के बीच वर्चस्व की लड़ाई थी.

और पढ़ें- Sagar Murder Case: बढ़ेगी सुशील कुमार की मुश्किलें, क्राइम ब्रांच जल्द दाखिल करेगी चार्जशीट

क्या है पूरा मामला? 
दरअसल, 4-5 मई की रात दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में सुशील कुमार अपने कुछ साथियों के साथ पहुंचे थे. यहां उन्होंने मारपीट की. इस मारपीट में पहलवान सागर धनखड़ बुरी तरह जख्मी हो गया और बाद में उसकी मौत हो गई. पिटाई करने के बाद अगले दिन से ही सुशील कुमार फरार चल रहे थे.

17 दिन बाद 23 मई को सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था. फिलहाल सुशील कुमार समेत इस हत्याकांड से जुड़े कई आरोपी पुलिस हिरासत में है और तिहाड़ जेल में बंद हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें