scorecardresearch
 

औरंगाबाद में राम मंदिर के साधु की पिटाई, 25 ग्रामीणों पर FIR दर्ज

फिलहाल साधु महाराज का इलाज औरंगाबाद के घाटी अस्पताल में चल रहा है. पुलिस ने आज तक से बातचीत में कहा कि शुक्रवार से पुलिस साधु महाराज को मामला दर्ज कराने के लिए कह रही थी, लेकिन साधु महाराज तैयार नही थे. शनिवार रात साधु महाराज ने औरंगाबाद ग्रामीण पुलिस में 20 से 25 गांव वालों के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज करा दिया है.

फ़िलहाल साधु महाराज का इलाज एक अस्पताल में चल रहा है. फ़िलहाल साधु महाराज का इलाज एक अस्पताल में चल रहा है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • औरंगाबाद में भीड़ द्वारा एक साधु की पिटाई कर दी गई
  • साधु पर आरोप है कि वे तलवार लेकर भीड़ की तरफ आए
  • पुलिस ने करीब 25 ग्रामीणों पर मामला दर्ज कर लिया है

महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले में एक साधु की पिटाई का मामला सामने आया है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार साधु पर करीब 20 से 25 गांव वालों ने हमला कियां था. औरंगाबाद की पेठण तहसील के जांभली गांव में स्थित राम मंदिर में गणेश पूरी (शिंदे) नामक के साधु रहते हैं, जिनकी पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है.

देखें- आजतक LIVE

वायरल हुई वीडियो में साफ-साफ दिखाई दे रहा है कि साधु अपनी कुटिया से दो तलवार लेकर गांव वालों की ओर दौड़कर आ रहे हैं. ग़ुस्से से आगबबूला हुए साधु महाराज बार-बार ये कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि गांव वाले उन्हें भी पालघर के साधु की तरह ही मार देंगे. 

वायरल वीडियो में साधु के हाथ में दो तलवारें दिख रही हैं. हालांकि, साधु ने दावा किया कि उन्होंने अपनी सुरक्षा के लिए इन तलवारों को बाहर निकाला था. साधु का कहना है ''हमला करने वाले ग्रामीण मुझे हमेशा परेशान करते हैं और पहले भी मुझ पर हमला करने का प्रयास करते रहे हैं.''

दूसरी ओर ग्रामीणों का कहना है कि शुक्रवार के दिन एकादशी थी, इसलिए बड़ी संख्या में पुरुष और महिलाएं दर्शन के लिए निलाज गांव से श्रीराम मंदिर गए थे. इस बीच, जब महिलाएं खाने के लिए बैठीं तभी महाराज की गाय जिसे रस्सी से बांधा हुआ था. अचानक साधु के भुट्टे के खेत मे घुस गई. गाय को खेत में नुकसान करते देख साधु महिलाओं और गांव वालों की ओर डंडा लेकर आ गए. गांव वालों का आरोप है कि साधु ने वो डंडा किसी गांव वाले को दे मारा. जिसके बाद गुस्साए ग्रामीण इकट्ठा हो गए. गांव वालों की भीड़ देख साधु अपनी कुटिया में गए और दो तलवारें लेकर गांव वालों को ललकारते हुए आये.

साधु ने ग्रामीणों पर ये भी आरोप लगाया है कि गांव वालों ने उन पर पत्थर बरसाए. लेकिन गांव वालों के मुताबिक उनकी साधु के साथ सिर्फ कहा-सुनी हुई थी, लेकिन उन्होंने पत्थर नहीं मारे. ग्रामीणों का कहना है कि भीड़ को देख साधु पहाड़ी से बस्ती की ओर दौड़ते हुए गए थे, शायद गिरने से ही उन्हें चोट लग गई होगी.''

फिलहाल साधु महाराज का इलाज औरंगाबाद के घाटी अस्पताल में हो रहा है. पुलिस ने आजतक से बातचीत में बताया कि शुक्रवार से पुलिस साधु को मामला दर्ज कराने के लिए कह रही थी, लेकिन साधु तैयार ही नही थे. शनिवार रात साधु ने औरंगाबाद ग्रामीण पुलिस में 20 से 25 गांव वालों के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज करा दिया है. फ़िलहाल पुलिस बाबा से भी पूछ्ताछ कर रही है कि बाबा के पास वे तलवारें कहां से आईं. औरंगाबाद पुलिस ने आजतक को बताया कि तफ्तीश के लिए पुलिस ने एक तलवार भी जब्त कर ली है. अगर जांच के दौरान साधु के पास से बरामद तलवारें अवैध तरीके से रखी हुई पाई गईं, तो साधु महाराज पर आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×