scorecardresearch
 

कोरोना: रेमडेसिविर-ऑक्सीजन की लूट तो कहीं वैक्सीन चोरी, इंदौर में 3 कालाबाजारियों पर रासुका 

देश कोरोना के कहर से कराह रहा है, लेकिन कालाबाजारी करने वालों ने मानवता को शर्मसार करते हुए लूट खसोट मचा रखी है. मध्य प्रदेश के इंदौर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में तीन लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई शुरू की गई है. इन मामलों में लगातार सरकार एक्शन मोड में नजर आ रही है.   

X
मध्य प्रदेश के दमोह में ऑक्सीजन स्टोर रूम में हुई तोड़फोड़ मध्य प्रदेश के दमोह में ऑक्सीजन स्टोर रूम में हुई तोड़फोड़
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हरियाणा के जींद में 1710 वैक्सीन चोरी
  • एमपी के शाजापुर में रेमडेसिविर की लूट 

कोरोना महामारी से देश भर में लोग बेहाल हैं, वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं जो ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमडेसिविर जैसी दवाओं की कालाबाजारी से जेबें भर कर मानवता को शर्मसार कर रहे हैं. पिछले दो दिन से देश के कुछ हिस्सों में सरकारी अस्पतालों से ऑक्सीजन सिलेंडर, रेमडेसिविर, वैक्सीन की लूट और चोरी की घटनाएं भी सामने आई हैं.

मध्य प्रदेश के इंदौर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में तीन लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई शुरू की गई है. इन मामलों में लगातार सरकार एक्शन मोड में नजर आ रही है.

  

वैक्सीन हुईं चोरी
हरियाणा जींद के जनरल अस्पताल के पीपीसी सेंटर से कोविड-19 की 1710 डोज चोरी होने का हैरान करने वाला मामला सामने आया है.  इस चोरी का गुरुवार सुबह पता चला. वैक्सीन तालाबंद फ्रीजर में रखी हुई थी, लेकिन चोर ताला तोड़कर वैक्सीन ले जाने में कामयाब हुए. दिलचस्प बात ये है कि चोरों ने अस्पताल के स्टोर से कैश या अन्य दवाओं को नहीं चुराया. पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है. चोरी की गईं वैक्सीन में 1270 कोविशील्ड और 440 कोवैक्सीन शामिल हैं. 

अस्पताल में स्टोर के नजदीक कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था. इस बीच जींद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मंजीत ने जनरल अस्पताल में वैक्सीन नहीं होने जैसी रिपोर्ट्स का खंडन किया है. डॉ. सिंह के मुताबिक जनरल अस्पताल में लोगों को वैक्सीन लगाने का काम फिर शुरू हो गया है. फिलहाल 1510 कोवैक्सीन तथा 110 कोविशील्ड डोज उपलब्ध हैं. गुरुवार दोपहर तक दोनों वैक्सीन की 1000-1000 डोज उपलब्ध होंगी, जबकि शाम को कोविशील्ड की 6000 डोज और अस्पताल पहुंच जाएंगी. 

दो डॉक्टर निलंबित
मध्य प्रदेश के दमोह में ऑक्सीजन सिलेंडर की लगातार दो दिन लूट के बाद अब प्रदेश के शाजापुर से रेमडेसिविर इंजेक्शन लूटे जाने का मामला सामने आया है. शाजापुर प्रशासन के मुताबिक 65 रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति हुई थी, जिनमें से 45 बुधवार को लूट लिए गए. बाकी जरूरतमंद मरीजों को बांटे गए. जिला प्रशासन ने डॉक्टर्स प्रोटेक्शन एक्ट के तहत 12 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. रेमडेसिविर को बांटने का काम देखने वाले दो डॉक्टर्स को शिफ्ट कर दिया गया है और दो को निलंबित किया गया है. 

इंदौर में 3 पर लगाया गया रासुका 
इंदौर में शैलबी अस्पताल से भी रेमडेसिविर के 139 इंजेक्शन गायब होने की रिपोर्ट है. अस्पताल ने एक फार्मा कर्मचारी के खिलाफ चोरी का केस दर्ज कराया है. इससे पहले भोपाल के हमीदिया अस्पताल से 850 रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी हो गए थे. इंदौर जिला प्रशासन ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में तीन लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई शुरू की है. 

ऑक्सीजन सिलेंडर की लूट
बता दें कि मध्य प्रदेश के ही दमोह से ऑक्सीजन स्टोर रूम से तोड़फोड़ के बाद कुछ अराजक तत्व ऑक्सीजन सिलेंडर लूट कर ले गए थे. अस्पताल से 20-21 अप्रैल को लगातार दो दिन लूट की ऐसी घटनाएं रिपोर्ट हुईं. दमोह जिला अस्पताल कोविड डेडिकेटेड अस्पताल है.  इस घटना के बाद डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ ने अस्पताल में थोड़ी देर के लिए काम करना बंद कर दिया. अस्पताल परिसर में पुलिस की मौजूदगी बढ़ाए जाने के बाद ही काम दोबारा शुरू हुआ.  

दमोह के जिला कलेक्टर तरुण राठी ने बुधवार को दावा किया था कि गैस सिलेंडर लूटने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ केस दर्ज किया जा रहा है. हालांकि इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई. हैरानी की बात है कि जिस दिन ऑक्सीजन सिलेंडर लूट की घटना हुई, उसी दिन राज्य सरकार की ओर से दावा किया गया था कि ऑक्सीजन सप्लाई सरप्लस में है.  

ऑक्सीजन सिलेंडर, रेमडेसिविर जैसी जरूरी दवाओं और वैक्सीन की चोरी और लूट की ये घटनाएं चौंकाने वाली हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें