scorecardresearch
 

मोतिहारी: दुष्कर्म के आरोपी के पिता की जांच के दौरान मौत, पुलिस पर लगा हत्या का आरोप

मोतिहारी पुलिस पर संगीन इल्जाम है. आरोप है कि पुलिस की छापेमारी के दौरान मारपीट की वजह से दुष्कर्म के आरोपी के पिता की मौत हो गई. हालांकि पुलिस का कहना है कि मृतक के परिजनों के आरोप बेबुनियाद है.

X
मोतिहारी पुलिस पर हत्या का आरोप मोतिहारी पुलिस पर हत्या का आरोप
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोपी को गिरफ्तार करने गई थी पुलिस टीम
  • परिजनों ने पुलिस पर लगाया हत्या का आरोप

बिहार की मोतिहारी पुलिस इन दिनों सवालों के घेरे में है. आरोप है कि छापेमारी करने गई पुलिस टीम ने रेप के आरोपी के पिता के साथ मारपीट की. बाद में उस शख्स ने दम तोड़ दिया. हालांकि पुलिस मृतक के परिजनों के आरोप को नकार रही है. पुलिस का कहना है कि आरोपी के पिता की मौत हार्ट अटैक से हुई.

यह घटना मोतिहारी के राजेपुर थाना क्षेत्र के सुहबल गांव की है. मंगलवार देर रात बलात्कार व पॉक्सो एक्ट के आरोपी सचिन दास के पिता की मौत हो गई. परिजनों का कहना है कि पुलिस की पिटाई से उनकी जान चली गई. जानकारी के मुताबिक, पुलिस टीम सचिन को गिरफ्तार करने गई थी, लेकिन परिजनों ने डर के कारण दरवाजा नहीं खोला. ऐसे में पुलिस ने आरोपी के घर को चारों ओर से घेर लिया.

कथित रूप से आरोपी के पिता राम चरित्तर दास पिछले दरवाजे से निकले तो पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और पटक कर पिटाई करने लगे. इस कारण उसकी मौत हो गई. मृतक के बेटे ने दावा किया कि पुलिस टीम उसके दुश्मनों के साथ मिलकर घर पर छापेमारी करने गई थी. इसी दौरान उनके पिता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. 

मोतिहारी के एसपी ने बताया कि परिजनों का यह आरोप बेबुनियाद है. पुलिस टीम वहां छापेमारी करने गई थी, लेकिन पुलिसवालों की परिजनों से कोई मुलाकात ही नहीं हो सकी. आरोपी के घरवालों ने घर का दरवाजा ही नहीं खोला. काफी प्रयास के बाद भी जब उन लोगों ने दरवाजा नहीं खोला तो पुलिस वापस लौट आई. उसके बाद पता चला कि उसके पिताजी की मौत हो गई और लोगों ने सड़क जाम कर दिया है. डीएसपी सहित अन्य थानों की पुलिस को वहां भेजा गया. जांच के बाद यह तथ्य सामने आया कि उसकी मौत पिटाई से नहीं, बल्कि हार्ट अटैक से हुई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें