scorecardresearch
 

स्मैक की लत पूरी करने के लिए 15 दोपहिया वाहन चुराए, पार्ट्स निकाले और तालाब में फेंक दीं बाइक

फैजल और यूसुफ ने टोंक शहर से बाइक-स्कूटर चोरी की 15 वारदातों को अंजाम देने की बात कबूल की है. दोनों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने स्मैक का नशा पूरा करने के लिए महज 200-300 रुपए की खातिर ये चोरियां कीं.

तालाब से बरामद की गई चोरी की मोटरसाइकिल तालाब से बरामद की गई चोरी की मोटरसाइकिल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टोंक में पुलिस ने दो चोरों को किया अरेस्ट
  • स्मैक की लत पूरी करने के लिए करते थे चोरी
  • करीब 15 दोपहिया वाहनों को लगाया ठिकाने

राजस्थान के टोंक शहर से दो बाइक चोरों को गिरफ्तार किया गया है. इन दोनों को स्मैक की लत थी. ये नशा पूरा करने के लिए महज 200-300 रुपए के लिए बाइक और स्कूटर चोरी किया करते थे. फिर ये उसमें से पेट्रोल निकाल कर बेच देते थे. इसके अलावा टू-व्हीलर्स के आसानी से निकाले जाने लायक पार्ट्स निकाल कर भी बेच दिया करते थे. इसके बाद ये लोग बाइक या स्कूटर को शहर के गंदे तालाब में फेंक दिया करते थे.

दोनों बाइक चोरों ने पुलिस के सामने कम से कम 15 ऐसी चोरी की वारदात को अंजाम देने की बात कबूल की है. पुलिस ने गोताखोरों की मदद से इन दुपहिया वाहनों को तालाब से निकालने के लिए अभियान चलाया है. चोरी किये गए 15 वाहनों में से 9 बाइक और एक स्कूटर को तालाब से निकालने में अब तक कामयाबी मिल गई है. इन वाहनों का जो सामान खोल कर बेचा गया था, उसकी भी निशानदेही कर ली गई है. चोरी किये गए दुपहिया वाहनों के पार्ट्स भी एक बोरे से भरे मिले हैं. बाकी दुपहिया वाहनों की तलाश जारी है. 

गांव के बीच बने ATM को उखाड़ ले गए चोर, एक द‍िन पहले ही भरे गए थे 15 लाख

शहर में इस तरह की कई वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश ने इसे गंभीरता से लिया. साथ ही चोरों को पकड़ने के लिए डिस्ट्रिक्ट स्पेशल टीम (DST) को जिम्मेदारी सौंपी गई. DST ने शहर के ही रहने वाले फैसल और यूसुफ को गिरफ्तार कर चोरियों की इन वारदात से पर्दा हटाया.  

200-300 रुपए की खातिर करते थे चोरी 

फैजल और यूसुफ ने टोंक शहर से ही बाइक-स्कूटर चोरी की 15 वारदातों को अंजाम देने की बात कबूल की है. दोनों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने स्मैक का नशा पूरा करने के लिए महज 200-300 रुपए की खातिर ये चोरियां कीं. वाहन चोरी के बाद ये या तो उसका पेट्रोल निकाल या फिर कोई पार्ट निकाल कर बेच दिया करते थे. इसके बाद वाहन को वे शहर के बींचो-बीच स्थित तेलियों के तालाब में फेंक दिया करते थे. पुलिस ने दोनों को तालाब ले जाकर गोताखोरों की मदद की मदद से 9 बाइक और एक स्कूटर को बाहर निकलवाया.  

गिरफ्तार दोनों आरोपी

आगे भी जारी रहेगा सर्च अभियान

इस पूरे मिशन की मॉनीटरिंग करने वाले DST प्रभारी और सर्किल ऑफिसर टोंक चंद्र सिंह रावत ने बताया कि तालाब में सर्च अभियान जारी रहेगा, जब तक कि सारे वाहन ढूंढ नहीं लिए जाते. रावत के मुताबिक अभी इन दोनों बाइक चोरों से और भी कई वारदात का खुलासा हो सकता है.  

स्थानीय लोगों में राहत की सांस 

बाइक चोरों के पकड़े जाने पर टोंक के स्थानीय लोगों ने भी राहत की सांस ली है. टोंक के रहने वाले संजय वैष्णव ने कहा कि “आए दिन इस तरह की वारदात होती रहती हैं. नशेड़ी कभी खड़े वाहनों से पेट्रोल चुरा कर ले जाते हैं तो कभी वाहन ही साथ ले जाते हैं. अब इन दो बाइक चोरों के पकड़े जाने से शायद ऐसी घटनाओं पर विराम लगे.”

(रिपोर्ट- मनोज तिवारी)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें