scorecardresearch
 

पुणे: ज्वेलरी शॉप से फिल्मी स्टाइल में चोरी, दीवार में छेद कर लाखों का माल उड़ाया

ज्वेलरी शॉप में चोर साथ की इमारत से ड्रिल करके अंदर घुसे. उन्होंने गैस कटर की मदद से ज्वेलरी शॉप की तीन तिजोरियों को काटने की हर मुमकिन कोशिश की लेकिन नाकाम रहे. चोरों ने साथ वाली इमारत में चाइनीज रेस्तरां खोलने के नाम पर कुछ दिन पहले जगह किराए पर ली थी.

X
दीवाल में होल कर ज्वेलरी शॉप में हुई चोरी. दीवाल में होल कर ज्वेलरी शॉप में हुई चोरी.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चाइनीज रेस्तरां के नाम पर ली किराए की जगह
  • दीवार में ड्रिलिंग मशीन से छेद कर बनाई सुराख
  • पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज किया केस

पुणे के बावधान बुद्रुक इलाके में फिल्मी स्टाइल में ज्वेलरी शॉप से चोरी की घटना सामने आई है. ज्वेलरी शॉप से सटी एक होटल की इमारत है. आरोप है कि चोरों ने कुछ दिन पहले होटल में चाइनीज रेस्तरां खोलने के नाम पर किराए की जगह ली. वहीं से ज्वेलरी शॉप की दीवार में ड्रिलिंग से छेद कर चोरी को अंजाम दिया. 

जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पहले चोरों ने होटल में जगह किराए पर ली और दस हजार रुपये डिपोजिट कराए. चोरों ने सफाई और फर्नीचर सेट करने के नाम पर चाबियां अपने पास ही रख लीं. फिर वो गुरुवार रात को साझा दीवार में छेद करके ज्वेलरी शॉप में घुस गए. वहां से वे करीब 1.55 लाख रुपए की जूलरी और चीजें चुरा कर ले गए.  

ये चोरी बावधान बुदरुक इलाके में स्थित जगदंबा ज्वेलर्स में हुई. हिंजेवाड़ी पुलिस स्टेशन में अज्ञात लगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. हिंजेवाडी पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर बालकृष्ण सावंत ने आज तक को बताया कि जगदंबा ज्वेलर्स के युवा मालिक विष्णु वर्मा ने रिपोर्ट दर्ज करवाई.

छत्तीसगढ़: 800 किलो गोबर चोरी! क्या है 'गोधन न्याय योजना', जिससे हो सकता है वारदात का लिंक
 
ज्वेलरी शॉप में चोर साथ की इमारत से ड्रिल करके अंदर घुसे. उन्होंने गैस कटर की मदद से ज्वेलरी शॉप की तीन तिजोरियों को काटने की हर मुमकिन कोशिश की लेकिन नाकाम रहे. आधुनिक टेक्नोलॉजी वाली ये तिजोरियां अनब्रेकेबल और फायरप्रूफ हैं. शॉप मालिक के मुताबिक सारे कीमती जेवरात इन्हीं तिजोरियों में रहते हैं. वहीं शोकेस में भी कुछ जेवरात डिस्प्ले के लिए रहते हैं. चोर जब तिजोरियां नहीं खोल सके तो शोकेस और ड्राअर से जो कुछ भी उनके हाथ लगा साथ ले गए.  
 

फिल्मी स्टाइल से हुई चोरी.



कैसे सामने आई चोरी की वारदात?

शुक्रवार सुबह विष्णु वर्मा और स्टाफ ज्वेलरी शॉप खोलने पहुंचे तो इस चोरी का पता चला. विष्णु वर्मा ने आज तक को बताया कि कुछ दिन पहले साथ वाली इमारत में दो लोग चाइनीस रेस्तरां खोलने के लिए जगह किराए पर लेने के लिए आए. फिर कुछ दिन तक वे रेस्तरां के इंटीरियर का काम कराने का बहाना करते रहे. दुकान की पेंटिंग के लिए पेंटर भी बुलाए. उन्होंने पेंटर से कहा कि पैसे रेस्तरां शुरू करने के बाद देंगे.  

चोरों ने उड़ाया लाखों का माल.

चोरी से पहले चोरों ने बांटी थी मिठाई

विष्णु वर्मा ने बताया कि चोरी की वारदात से एक दिन पहले उन्होंने आसपास के दुकानदारों को मिठाई भी बांटी थी. इन दोनों ने विष्णु वर्मा से भी बात की. उन्होंने कहा था कि वे रेस्तरां खोलने जा रहे हैं, इसलिए मुंह मीठा कीजिए. साथ ही ये भी कहा कि चाइनीज रेस्तरां के फूड को चखने एक बार जरूर आएं. वो ये भी डींग हांक रहे थे कि उन्हें मुंबई के फाइव स्टार होटल में काम करने का अनुभव है. लेकिन कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन में उनका जॉब चला गया. ऐसे में अब उन्होंने पुणे में खुद का चाइनीज रेस्तरां खोलने का फैसला किया है.
 

चोरों ने उड़ाया लाखों का माल.



विष्णु वर्मा के मुताबिक उनकी बातों से कहीं नहीं लग रहा था कि वो चोर हो सकते हैं. सीनियर इंस्पेक्टर बालकृष्ण सावंत के मुताबिक जिस तरह से इस चोरी को अंजाम दिया गया वो उत्तर भारत में हुई कुछ वारदात से मिलता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें