scorecardresearch
 

राजस्थानः अजमेर में महिला के साथ बलात्कार, बारां रेप केस में फिर होगी जांच

अजमेर पुलिस ने गुरुवार को धारा 161 के तहत महिला के बयान दर्ज कराए. पुलिस ने पकड़े गए आरोपी युवक से पूछताछ भी की. सूत्रों के अनुसार घटना के पीछे पुराने प्रेम प्रसंग का मामला जुड़ा है.

पुलिस ने महिला की शिकायत पर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है पुलिस ने महिला की शिकायत पर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बारां के बाद अजमेर में महिला से बलात्कार
  • घटना को सोशल मीडिया पर गैंगरेप बताया
  • पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार

राजस्थान के बारां में दो बहनों के साथ रेप का मामला अभी शांत नहीं हुआ कि अजमेर में एक महिला के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है. सोशल मीडिया पर इस घटना को गैंगरेप बताया जा रहा है, लेकिन पुलिस ने गैंगरेप की बात को नकार दिया. हालांकि इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.
 
घटना अजमेर की है. जहां एक महिला से बलात्कार की घटना सामने आई है. पीड़िता ने पुलिस से मामले की शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए फौरन मुकदमा दर्ज कर लिया. साथ ही बिना देर किए कार्रवाई शुरू कर दी. महिला का मेडिकल भी कराया गया. आरोपियों की तलाश शुरू की गई. इसी दौरान एक आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया.

अजमेर पुलिस ने गुरुवार को धारा 161 के तहत महिला के बयान दर्ज कराए. पुलिस ने पकड़े गए आरोपी युवक से पूछताछ भी की. सूत्रों के अनुसार घटना के पीछे पुराने प्रेम प्रसंग का मामला जुड़ा है. सोशल मीडिया पर इस घटना को गैंगरेप बता कर प्रचारित किया जा रहा है.

हालांकि पुलिस ने गैंगरेप की बात को नकार दिया. अजमेर पुलिस का दावा है कि महिला के साथ गैंगरेप नहीं हुआ है. फिलहाल, इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. जांच का जिम्मा अजमेर (साउथ सर्किल) के सीओ मुकेश कुमार को दिया गया है. 

बारां रेप केस में फिर से हो रही जांच
राजस्थान के बारां रेप कांड मामले में फिर से मजिस्ट्रेट के सामने पीड़िताओं के बयान कराए जाएंगे. लड़कियों ने पुलिस से कहा है कि वे फिर से अपना बयान बदलना चाहती हैं. लड़कियों के बयान पर पुलिस इस केस में धारा 376 लगाएगी. मजिस्ट्रेट से एक बार फिर से उनके बयान कराने की इजाजत ली जाएगी. बुधवार को बारां में दो बहनों ने आरोप लगाया था कि दो लड़कों ने उनके साथ बलात्कार किया था. बीजेपी ने इस मामले को लेकर प्रदर्शन किया. लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर इस मामले को गलत बताया था.

जब लड़कियों के परिजनों ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई तो पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए केस दर्ज किया था. हालांकि दोनों लड़कियों ने मजिस्ट्रेट के सामने ऐसी किसी भी घटना से इनकार कर दिया था. लेकिन अब लड़कियों के पिता ने आरोप लगाया है कि बच्चियों पर दबाव डाला गया था और माता-पिता को मार डालने की धमकी दी गई थी. जिसकी वजह से मजिस्ट्रेट के सामने उन्होंने बयान बदला था. इसके बाद पुलिस ने मजिस्ट्रेट से दोबारा बयान दर्ज कराने के लिए लिखित आग्रह किया है. पुलिस ने कहा है कि इस केस में अब धारा 376 भी जोड़ी जाएगी.

इस मामले में पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे थे. क्योंकि पीड़ित नाबालिग बहनों ने पुलिस के सामने 161 के बयान में बलात्कार की बात कही थी. मगर मजिस्ट्रेट के सामने वे दोनों पलट गई. फिर ये भी सवाल था कि नाबालिग आरोपियों को थाने से क्यों छोड़ा गया. 

बारां जिले के एसपी डॉ. रवि का कहना है कि बच्चियों के घरवालों से बातचीत की गई है. उन्होंने नई शिकायत दी है. फिर से बयान दर्ज करवाए जा रहे हैं. दोबारा मामले की जांच कराई जा रही है. उधर, बीजेपी मामले को तूल दे रही है. बारां में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की. मामले में कोताही बरतने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने की मांग भी की.
 

(अजमेर से चंद्रशेखर शर्मा का इनपुट)
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें