scorecardresearch
 

खूंटी: सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया 15 लाख का इनामी नक्सली, AK-47 जब्त

खूंटी पुलिस के मुताबिक सुरक्षाबलों को पीएलएफआई चीफ दिनेश गोप, जिदन गुड़िया दस्ते के साथ कोयोंगसार इलाके में होने की सूचना मिली थी. इसके बाद जिला पुलिस और सीआरपीएफ 94 बटालियन की संयुक्त टीम बना कर अभियान चलाया गया

प्रतीकात्मक तस्वीर (पीटीआई) प्रतीकात्मक तस्वीर (पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • झारखंड में 15 लाख का इनामी माओवादी ढेर
  • पुलिस ने घटनास्थल से AK-47 बरामद किया
  • खूंटी पुलिस की बड़ी कामयाबी

झारखंड के खूंटी जिला अंतर्गत मुरहू थाना इलाके में सुरक्षा बलों-पीएलएफआई माओवादियों के बीच मुठभेड़ में 15 लाख का इनामी नक्सली जिदन गुड़िया मारा गया है. ये मुठभेड़ सोमवार सुबह खूंटी के मुरहू इलाके में हुई है. जिला पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई में सुरक्षाबलों को यह सफलता मिली है. 

जिदन गुड़िया के मारे जाने के बाद पीएलएफआई को बड़ा झटका लगा है. पुलिस ने जिदन गुड़िया के शव की पहचान कर ली है और उसके शव को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है. पुलिस ने उसके शव के पास से एक-47, जिंदा गोली समेत कई समान जब्त किया है.

पुलिस के मुताबिक सुरक्षाबलों को पीएलएफआई चीफ दिनेश गोप, जिदन गुड़िया दस्ते के साथ कोयोंगसार इलाके में होने की सूचना मिली थी. इसके बाद जिला पुलिस और सीआरपीएफ 94 बटालियन की संयुक्त टीम बना कर अभियान चलाया गया. पुलिस से घिरता देख नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. इसके बाद पुलिस की तरफ से भी जवाबी फायरिंग की गई. इस दौरान जिदन गुड़िया मुठभेड़ में मारा गया. जबकि दस्ते के अन्य सदस्य जंगल का फायदा उठा कर भाग गए. जंगल में सर्च अभियान जारी है. पुलिस ने आस-पास के इलाकों को घेर लिया है और सघन तलाशी ले रही है.

जिदन गुड़िया की तलाश पुलिस को कई मामलों में थी. उस पर खूंटी में कई मामले दर्ज है. जिदन गुड़िया के वारदात को देखते हुए पुलिस ने उस पर 15 लाख का इनाम रखा था. 

बता दें कि झारखंड का खूंटी जिला नक्सल प्रभावित इलाका है. यहां पर आए दिन पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ होती रहती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें