scorecardresearch
 

नोएडा: मेड के सहारे चोरी करने वाले गैंग का भंडाफोड़, कई परिवारों को बनाया शिकार

नोएडा पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है, जो ऑनलाइन डिमांड पर घरेलू सहायिका (domestic help) को फ्लैट और मकानों में भेज कर चोरी की वारदात को अंजाम दिलवाता था.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मेड से चोरी और लूट की वारदातों को अंजाम दिलवाता था
  • बिहार और पश्चिम बंगाल से महिलाओं को दिल्ली लाता है गैंग

अगर आप घर में बिना तहकीकात के घरेलू सहायिका यानी मेड रख रहे हैं, तो होशियार हो जाइए. दिल्ली-एनसीआर में एक ऐसा गैंग सक्रिय है जो घरेलू सहायिकाओं से चोरी और लूट की वारदात को अंजाम दिलवाता है. ताजा मामला नोएडा में सामने आया है. 

नोएडा पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है, जो ऑनलाइन डिमांड पर घरेलू सहायिका (domestic help) को फ्लैट और मकानों में भेज कर चोरी की वारदात को अंजाम दिलवाता था. पुलिस ने गैंग के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. जांच में पता चला है कि यह गैंग अभी तक एक दर्जन से ज्यादा परिवारों को अपना शिकार बना चुका है.

गौतमबुद्ध नगर के सेक्टर-24 थाने की पुलिस ने जिस आरोपी को गिरफ्तार किया गया है, उसकी पहचान दिनेश के रूप में हुई है, जो कि पश्चिम बंगाल का रहने वाला है, यह शख्स फिलहाल दिल्ली में रह रहा था.

नोएडा के एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि यह गैंग बिहार और पश्चिम बंगाल (west bengal) से महिलाओं को दिल्ली लेकर आता है और घरेलू सहायकों यानी मेड के रूप में अलग-अलग सोसाइटियों में काम करने के लिए भेजता है.

पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपी के संपर्क में कई महिलाएं थीं. इस गैंग के लोग व्हाट्सएप के ज़रिए लोगों से जुड़ते थे. जिन लोगों को मेड (maid) की जरूरत होती थी, उनसे संपर्क करके हाउस हेल्प भेजने की बात कहते थे. यह लोगों को काफी कम पैसे में घरेलू सहायिका मुहैया करवाने का दावा करते थे, ताकि लोग इनके जाल में फंस जाएं. पुलिस इस गैंग से जुड़े दूसरे सदस्यों की तलाश कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें