scorecardresearch
 

Bulli Bai App: संदिग्ध आरोपी बेंगलुरु से हिरासत में लिया गया, मुंबई ला रही पुलिस

Bullibai App: मुंबई पुलिस ने बुल्लीबाई ऐप के मामले में एक संदिग्ध आरोपी को बेंगलुरु से हिरासत में लिया है और उसे मुंबई लाया जा रहा है. वह बुलीबाई के पांच फॉलोअर्स में से एक है. उसे गिरफ्तार किए जाने की भी संभावना है.

X
संदिग्ध आरोपी को मुंबई पुलिस ने बेंगलुरु से हिरासत में लिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर) संदिग्ध आरोपी को मुंबई पुलिस ने बेंगलुरु से हिरासत में लिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई पुलिस की कार्रवाई
  • Bulli Bai पर मचा है बवाल

मुंबई पुलिस ने बुल्लीबाई ऐप के मामले में एक संदिग्ध आरोपी को बेंगलुरु से हिरासत में लिया है और उसे मुंबई लाया जा रहा है. वह बुलीबाई के पांच फॉलोअर्स में से एक है. उसे गिरफ्तार किए जाने की भी संभावना है.

इस बीच, गिटहब ने 'बुली बाई' विवाद पर इंडिया टुडे के सवालों का जवाब दिया और कहा कि इसमें उत्पीड़न, भेदभाव और हिंसा भड़काने वाली सामग्री और आचरण उसकी नीतियों के खिलाफ हैं. 

सॉफ़्टवेयर डेवलपर का कहना है कि मामला सामने आते ही विचाराधीन यूजर्स के अकांउट को सस्पेंड कर दिया गया था. GitHub ने इस मामले में कानून प्रवर्तन एजेंसियों के सहयोग का भी आश्वासन दिया है. 

Bulli Bai पर बवाल

पता हो कि करीब 100 मुस्लिम महिलाओं की कथित तौर पर नीलामी की तस्वीरें अपलोड करने वाले Bulli Bai पर बवाल मचा हुआ है. इसे होस्टिंग प्लेटफॉर्म Github पर लॉन्च किया गया था. करीब 6 महीने पहले भी Sulli Deals नाम से एक ऐप आया था, जिसमें Bulli Bai की ही तरह महिलाओं की नीलामी की जा रही थी.  

डेवलपर पर कार्रवाई की मांग

पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, छात्रों और प्रसिद्ध हस्तियों सहित कई महिलाओं ने Bulli Bai के खिलाफ शिकायत की और इसके डेवलपर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की. मुंबई और दिल्ली पुलिस की साइबर सेल द्वारा की गई जांच में पाया गया कि सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को ऐप पर 'नीलामी' के लिए डाला गया था.  

अल्पसंख्यक आयोग ने मांगा पुलिस कमिश्नर से जवाब

नए साल के पहले दिन में जिस तरह सोशल मीडिया पर मुस्लिम महिलाओं को लेकर बुल्ली बाय डील नामक ऐप पर आपत्तिजनक बातें और तस्वीरों को पोस्ट किया गया है, उस पर दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने भी संज्ञान लिया है.

आयोग ने बुल्ली बाय डील मामले में दिल्ली पुलिस कमिश्नर को नोटिस भेज जवाब मांगा है. आयोग ने कमिश्नर से पूछा है कि अभी तक इस पूरे मामले पर क्या कार्यवाही की गई है?

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें