scorecardresearch
 

मुख्तार अंसारी को लाने अलग-अलग रास्ते से रवाना हुई यूपी पुलिस की टीम

बाहुबली मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से लाने के लिए टीम रवाना हो गई है. उत्तर प्रदेश पुलिस के जवानों के साथ एक बटालियन PAC भी रोपड़ भेजी गई है.

मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो) मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बांदा से रवाना हुई यूपी पुलिस की टीम
  • अभेद्य किले में तब्दील हुई बांदा जेल

बाहुबली मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से लाने के लिए टीम रवाना हो गई है. सोमवार सुबह-सुबह बांदा पुलिस लाईन में फोर्स को एकत्रित किया गया है. पुलिस के जवानों के साथ एक बटालियन PAC भी रोपड़ भेजी गई है. पूरे मिशन को लेकर उच्च अधिकारियों द्वारा गोपनीयता बरती जा रही. सूत्रों के मुताबिक, सुबह पंजाब के लिए टीम रवाना हुई है.

Mukhtar Ansari Live Updates:

12:27 PM: बांदा जेल से रोपड़ गई पुलिस टीम अलग-अलग रास्तों से जा रही है. हर टीम अपने रास्ते के रूट और टाइम की रोपड़ पहुंचकर रिपोर्ट देगी. रोपड़ पहुचंने के बाद वापसी का सुरक्षित और छोटा रास्ता तय होगा.

10:15 AM: मुख्तार अंसारी को लाने जो टीम गई है, उसमें एक सीओ, 2 एसएचओ, 6 एसआई, 20 पुलिस कर्मी, एक बज्रवाहन, एक एंबुलेंस, एक बटालियन पीएसी (50 पुलिसकर्मी) के साथ कुल 10 गाड़ियां शामिल हैं. बांदा से रोपड़ की दूरी 840 किमी है. टीम को करीब 16 से 18 घंटे पहुंचने में लगेंगे. अभी तक रुट कानपुर होकर एक्सप्रेस-वे से नोएडा होते हुए हरियाणा और फिर रोपड़ तक पहुंचना है. सीओ सत्यप्रकाश शर्मा के नेतृत्व में टीम गई है. एंबुलेंस में डॉ. एसडी त्रिपाठी हैं.

8:30 AM: बांदा पुलिस लाईन से एक टीम रोपड़ के लिए निकल चुकी है.

किले में तब्दील हुई बांदा जेल

इस बीच उत्तर प्रदेश के बांदा जेल को किले में तब्दील कर दिया गया है. इसके अलावा जेल में सुरक्षा ऑडिट भी किया गया. इस बारे में विस्तृत रिपोर्ट डीजी कारागार आनंद कुमार को भेज दिया गया है. ऑडिट के दौरान तन्हाई बैरक की विशेष जांच की गई. क्योंकि मुख्तार अंसारी को यहीं रखा जाना है. जेल के एंट्री और एग्जिट प्वाइंट पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए हैं.

सुरक्षा के चाक-चौबंध इंतजाम

जीपीएस सिस्टम से लैस वज्र वाहन के साथ यूपी पुलिस के 30 जवान एक अधिकारी की अगुवाई में पंजाब रवाना हो गए हैं, जो मुख्तार अंसारी को बांदा जिला जेल लेकर आएंगे. पुलिस टीम के साथ एक एंबुलेंस भी मौजूद रहेगी. इसके अलावा एक बटालियन पीएसी को भेजा गया है. यानी पूरी चाक-चौबंध व्यवस्था में मुख्तार को यूपी लाया जाएगा.

लावारिस हालत में मिली एंबुलेंस

जनवरी 2019 से पहले भी मुख्तार अंसारी बांदा जेल में ही बंद था. वहीं बाराबंकी से लाई गई मुख्तार अंसारी के लिए इस्तेमाल होने वाली एम्बुलेंस रोपड़ के एक ढाबे पर खड़ी मिली है. रविवार को ही बाराबंकी पुलिस इस मामले की जांच के लिए रोपड़ पहुंची है. एंबुलेंस के फर्जीवाड़े की जांच करने के लिए बाराबंकी पुलिस के पहुंचते ही एंबुलेंस लावारिस हालत में मिली है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें