scorecardresearch
 

छत्तीसगढ़: बेटे ने माता-पिता की हत्या कर शव को घर में दफनाए, फिर वहीं खाना बनाकर खाया

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में एक नाबालिग द्वारा अपने ही माता-पिता की हत्या मामले में एसडीओपी उदयपुर अखिलेश कौशिक ने बताया कि लड़के से पूछताछ की जा रही है. वह मानसिक रूप से कमजोर लग रहा है और गुस्से में आकर उसने इस घटना को अंजाम दिया है.

X
सांकेतिक तस्वीर.
सांकेतिक तस्वीर.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नाबालिग ने धारदार हथियार से की माता-पिता की हत्या
  • हत्या करके दोनों के शव घर के ही कमरे में दफना दिए

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर जिले में एक नाबालिग ने अपने माता-पिता की हत्या कर उनके शव घर में ही दफना दिए. घटना उदयपुर थाना के अंतर्गत ग्राम खोंधला टिकरापारा की है. मामले की जानकारी मिलते ही शनिवार सुबह पुलिस और फॉरेंसिक विभाग की टीम मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई.

पुलिस ने नाबालिग आरोपी की निशानदेही पर जमीन में गड़े शवों को निकाला. उन्होंने बताया कि इस घर में 50 वर्षीय जयराम सिंह अपनी 45 वर्षीय पत्नी फुलसुंदरी बाई और दो बेटों के साथ रहते थे. उनका बड़ा बेटा काम के सिलसिले में घर से बाहर गया हुआ था. इस दौरान माता-पिता की छोटे बेटे से किसी बात को लेकर बहस हुई. यह बहस इस हद तक बढ़ गई कि बेटे ने धारदार कृषि उपकरण बंसूला से दोनों को मौत के घाट उतार दिया.

इसके बाद उसने घर के एक कमरे में दोनों के शवों को दफना दिया. यही नहीं, उसी जगह उस नाबालिग बेटे ने खाना भी बनाया और खाया भी. घटना की भनक जब नाबालिग के जीजा को लगी तो उन्होंने फौरन इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मृतकों के शव निकाले और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिए. वहीं, नाबालिग बेटे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

आरोपी नाबालिग से की जा रही पूछताछ
एसडीओपी उदयपुर अखिलेश कौशिक ने बताया कि उन्हें मृतकों के दामाद ने इस बारे में जानकारी दी. फिलहाल आरोपी नाबालिग के पूछताछ की जा रही है. पूछताछ के दौरान ऐसा लग रहा है कि लड़का मानसिक रूप से कमजोर है. उसने गुस्से में आकर घटना को अंजाम दिया है. उधर, मृतकों के बड़े बेटे ने बताया कि वह घटना के दिन घर पर नहीं था. उसे भी इसकी जानकारी फोन पर जीजा ने दी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें