scorecardresearch
 

महंत नरेंद्र गिरि की मौत कैसे? CBI ने मठ जाकर सीन रिक्रिएट किया, बलबीर गिरि से भी पूछताछ

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच के सिलसिले में रविवार को एक बार फिर से सीबीआई टीम बाघम्बरी मठ पहुंची. यहां पहुंचकर सीबीआई टीम ने सीन रिक्रिएट किया.

महंत नरेंद्र गिरि (फाइल फोटो-PTI) महंत नरेंद्र गिरि (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 20 सितंबर को हुई महंत की मौत
  • सीबीआई कर रही है मौत की जांच

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की मौत की जांच के सिलसिले में प्रयागराज पहुंची सीबीआई (CBI) की टीम ने सीन रिक्रिएट किया. सीबीआई की टीम रविवार को भी बाघम्बरी मठ पहुंची और वहां पहुंचकर सीन रिक्रिएट किया. इसके लिए सीबीआई ने उस पंखे से महंत नरेंद्र गिरि के वजन के बराबर के बोरे को लटकाया, जिससे उनकी लाश लटकी मिली थी. 

बताया जा रहा है कि मठ पहुंची सीबीआई टीम ने कई लोगों से पूछताछ की. महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी बलबीर गिरि से भी पूछताछ की गई है. महंत नरेंद्र गिरि ने अपनी वसीयत में बलबीर गिरि को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था. वहीं, एक टीम आश्रम की वीडियोग्राफी भी की. इसके अलावा सीबीआई ने सबसे पहले कमरे का दरवाजा खोलने वाला और लाश उतारने वाले शिष्यों से भी पूछताछ की. इस पूछताछ के आधार पर उसी कमरे में सीन रिक्रिएट किया गया. 

इसके अलावा आज ही सीबीआई की टीम महंत की मौत के मामले में आरोपी आनंद गिरि (Anand Giri) और आद्या तिवारी (Aadya Tiwari) से भी पूछताछ करेगी. आनंद गिरि और आद्या तिवारी नैनी जेल में बंद हैं. 

इससे पहले शनिवार को भी सीबीआई की टीम मठ पहुंची थी. शनिवार को बाघम्बरी मठ पहुंचकर सीबीआई की टीम उस कमरे तक पहुंची थी, जहां महंत नरेंद्र गिरी की लाश मिली थी. सीबीआई ने कुछ शिष्यों से भी पूछताछ की थी. रविवार को सीबीआई की टीम यहां पहुंचकर कई अहम सबूत जुटा सकती है. इतना ही नहीं, सोमवार को एक बार फिर से सीबीआई बाघम्बरी मठ पहुंच सकती है. महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच के मामले में सीबीआई ने 24 सितंबर को एफआईआर दर्ज की थी. 

20 सितंबर को हुई थी महंत नरेंद्र गिरि की मौत

महंत नरेंद्र गिरि की मौत 20 सितंबर को हुई थी. पुलिस के मुताबिक, उन्होंने फांसी लगाकर अपनी जान दी थी. मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था, जिसमें उन्होंने परेशान होने की बात कही थी. सुसाइड नोट के आधार पर अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें आनंद गिरि, आद्या तिवारी और उनके बेटा संदीप तिवारी शामिल है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें