scorecardresearch
 

प्रयागराज: नरेंद्र गिरि केस में CBI ने SIT से ली डिटेल, निरंजनी अखाड़ा के सचिव बोले- नहीं कर सकते सुसाइड

महंत नरेंद्र गिरि मौत मामले में सीबीआई की टीम और एसआईटी के बीच बैठक हुई. सीबीआई ने इस मामले में हुई जांच के बारे में जानकारी ली. साथ ही इस मामले में प्रयागराज पुलिस ने अब तक क्या क्या कार्रवाई की, इसके बारे में भी जानकारी ली. पुलिस से पूछा गया कि कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है, किन्हें हिरासत में लिया गया.

नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में सीबीआई ने शुरू की जांच नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में सीबीआई ने शुरू की जांच
स्टोरी हाइलाइट्स
  • CBI ने SIT से केस की जांच के बारे में ली जानकारी
  • निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पुरी बोले- बैठक के बाद तय होगा उत्तराधिकारी

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है. सीबीआई ने शनिवार को प्रयागराज पहुंचकर मामले की जांच कर रही एसआईटी के साथ बैठक की. इस दौरान सीबीआई अफसरों ने एसआईटी से अब तक की जांच के बारे में जानकारी ली. उधर, निरंजनी अखाड़ा के सचिव रविंद्र पुरी का कहना है कि महंत नरेंद्र गिरि दृढ़ व्यक्तित्व वाले व्यक्ति थे, वे आत्महत्या नहीं कर सकते. 

महंत नरेंद्र गिरि मौत मामले में सीबीआई की टीम और एसआईटी के बीच बैठक हुई. सीबीआई ने इस मामले में हुई जांच के बारे में जानकारी ली. साथ ही इस मामले में प्रयागराज पुलिस ने अब तक क्या क्या कार्रवाई की, इसके बारे में भी जानकारी ली. पुलिस से पूछा गया कि कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है, किन्हें हिरासत में लिया गया. इन लोगों ने पूछताछ में क्या बताया ये सब जानकारी भी सीबीआई ने ली. 

बैठक के बाद तय होगा उत्तराधिकारी

निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पुरी ने कहा, नरेंद्र गिरि का वसीयतनामा सामने आया है, अभी यह तय नहीं हुआ है कि ये कितना सही है. उन्होंने कहा, हम अपने वकीलों, संतों और जानकारों के साथ बैठकर इसे देखेंगे, इसके बाद तय होगा कि उत्तराधिकारी कौन बनेगा? 
 
रविंद्र पुरी ने कहा, इस मामले में पंच परमेश्वर बैठक कर बात करेंगे. वकील को भी बुलाया जाएगा. इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा , वसीयतनामा में बलबीर गिरि का नाम है, इसका मतलब ये नहीं है कि वे अपने मन मुताबिक, किसी भी संपत्ति को बेच सकेंगे. उसके लिए समिति का गठन किया जाएगा. 
 
मठ की संपत्ति एक व्यक्ति की नहीं होती

पुरी ने कहा,  किसी भी मठ या गद्दी की संपत्ति एक व्यक्ति की नहीं होती. अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष, सभी अखाड़े मिलकर ये सब तय करेंगे. ये एक बड़ी परंपरा है. रविंद्र पुरी ने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि जैसे दृढ़ व्यक्तित्व वाले व्यक्ति आत्महत्या नहीं कर सकते, उन्होंने तमाम बड़े-बड़े माफियाओं से लड़ाई लड़ीं हैं. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें