scorecardresearch
 

MP: फर्जी डॉक्टर के क्लीनिक पर छापा मारने गई टीम को बंधक बनाने की कोशिश

बीते कई दिनों से आगर मालवा में एक फर्जी डॉक्टर के क्लीनिक की शिकायत मिल रही थी. इस शिकायत के आधार पर क्लीनिक पर प्रशासन ने छापा मारा, लेकिन मामला इतना बिगड़ गया कि उलटे अधिकारियों को अपनी जान बचानी पड़ी.

X
आगर मालवा पुलिस (फाइल फोटो) आगर मालवा पुलिस (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो अधिकारियों ने मारा छापा
  • बाद में पुलिस के पहुंचने से पहले डॉक्टर फरार

मध्य प्रदेश में फर्जी डॉक्टर के क्लीनिक पर छापा मारने पहुंची टीम को बंधक बनाने की कोशिश की गई. दरअसल, बीते कई दिनों से आगर मालवा में एक फर्जी डॉक्टर के क्लीनिक की शिकायत मिल रही थी. इस शिकायत के आधार पर क्लीनिक पर  प्रशासन ने छापा मारा, लेकिन मामला इतना बिगड़ गया कि उलटे अधिकारियों को अपनी जान बचानी पड़ी.

बताया जा रहा है कि एक फर्जी डॉक्टर के अस्पताल पर देर रात छापा मारने गए सीएमएचओ और पटवारी को बंधक बनाने की कोशिश की गई. फर्जी चिकित्सक ने वहां मौजूद मरीजों के परिजनों की भीड़ को भी प्रशासन की टीम के विरुद्ध उकसाने की कोशिश की. दोनों अधिकारी बमुश्किल अपनी जान बचाकर भागे.

इसके बाद काफी देर तक हंगामा होता रहा, बाद में पुलिस टीम के पहुंचने से पहले फर्जी चिकित्सक फरार हो गया. इस दौरान मरीज और उनके परिजन व आसपास के लोगों की काफी भीड़ एकत्रित हो गई. अफसरों का कहना है कि इस डॉक्टर के पास वैध डिग्री नहीं है, फिर भी वह कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा है.

बहरहाल, प्रशासन की कार्रवाई के दौरान अस्पताल में भर्ती करीब दो दर्जन से अधिक मरीजों को जिला अस्पताल भेजा गया है. कार्रवाई के दौरान एसडीएम, एसडीओपी, सीएमएचओ सहित पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम मौजूद रही. सीएमएचओ एस एस मालवीय के अनुसार, मामले में एफआईआर दर्ज कराई जा रही है और सख्त कार्यवाही की जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें