scorecardresearch
 

झारखंड: साहिबगंज में नकली थानेदार गिरफ्तार, वाहनों से कर रहा था अवैध वसूली

पुलिस को सूचना मिली कि तलबरिया चौक पर चार लोग सूमो गाड़ी सड़क पर लगाकर वाहनों से अवैध वसूली कर रहे हैं. उनमें से एक खुद को बरहेट थाना प्रभारी बता रहा है. सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी बरहेट गौरव कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और एक युवक को सूमो गाड़ी सहित गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस ने आरोपी रोबिन को मौके से गिरफ्तार कर लिया पुलिस ने आरोपी रोबिन को मौके से गिरफ्तार कर लिया
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तलबरिया चौक पर हो रही थी वाहनों से अवैध वसूली
  • ट्रक चालक ने शक होने पर पुलिस को दी सूचना
  • मुख्य आरोपी गिरफ्तार, उसके तीन साथी फरार

झारखंड के साहिबगंज में पुलिस ने एक नकली थाना प्रभारी (SHO) को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. फर्जी पुलिस वाला उस वक्त पकड़ा गया, जब वो अपने तीन साथियों के साथ रास्ते से गुजरने वाले वाहनों से अवैध वसूली कर रहा था. आरोपी बाकायदा एक टाटा सूमो गाड़ी सड़क के किनारे लगाकर आने-जाने वाले वाहनों को रोक रहा था और उनसे अवैध रूप से पैसा वसूल कर रहा था. 

मामला साहिबगंज के बरहेट पुलिस थाना इलाके का है. गुरुवार की रात थाना पुलिस को सूचना मिली कि तलबरिया चौक पर चार लोग सूमो गाड़ी सड़क पर लगाकर वाहनों से अवैध वसूली कर रहे हैं. उनमें से एक खुद को बरहेट थाना प्रभारी बता रहा है. सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी बरहेट गौरव कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और एक युवक को मौके से सूमो गाड़ी सहित गिरफ्तार कर लिया. जबकि उसके 3 साथी पुलिस को देखते ही फरार हो गए.

आरोपी पहचान पाकुर जिले के लिट़्टीपाड़ा निवासी रोबिन मंडल के रूप में हुई है. दरअसल, रोबिन जब बरहेट थाना क्षेत्र अंतर्गत तलबरिया चौक पर अपने तीन साथियों के साथ वाहनों से अवैध वसूली कर रहा था तो वहां से गुजरने वाले गोड्डा जिला निवासी ट्रक ड्राइवर रंजन कुमार साह को उन चारों लोगों पर शक हुआ. उसने फौरन इस बात की जानकारी बरहेट थाना प्रभारी को फोन पर दी. फिर उसने चारों नकली पुलिसवालों को कागज दिखाने के बहाने बातों में उलझाए रखा.

तभी बरहेट थाना प्रभारी गौरव कुमार टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और आरोपी रोबिन मंडल को सूमो गाड़ी सहित दबोच लिया. लेकिन उसके तीन साथी पुलिस को आता देख अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले. पुलिस ने रोबिन समेत चारों आरोपियों के खिलाफ अवैध वसूली का मामला दर्ज कर लिया है. अब पुलिस फरार हुए तीन युवकों की तलाश में छापेमारी कर रही है. 

रॉबिन ही है गिरोह का मास्टरमाइंड  
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बरामद की गई सूमो गाड़ी भी रोबिन मंडल की है. उसी ने अपने 3 साथियों के साथ वाहनों से अवैध वसूली का प्लान बनाया था. वो बरहेट थाना से क्षेत्र से गुजरने वाले वाहनों और ट्रक ड्राइवरों को डरा धमका कर अवैध वसूली करता था. उसके गिरोह में चारों लोगों की अलग-अलग भूमिका होती थी. उनमें एक थाना प्रभारी बनता था. बाकी तीन लोग सिपाही का रोल अदा करते थे.

इन आरोपियों ने अब तक कितने वाहनों से कितनी वसूली की है, अभी इस बात का खुलासा नहीं हुआ है. ये गैंग कब से ये काम कर रहा था. पुलिस ये सब पता लगाने की कोशिश कर रही है. पुलिस ने शातिर आरोपी रोबिन मंडल को कोर्ट में पेश किया. जहां से उसे जेल भेज दिया गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें