scorecardresearch
 

झारखंडः मक्के की फसल खा गई बकरी, शिकायत करने पर बुजुर्ग को पीट-पीटकर मार डाला

मृतक की पत्नी मरियम की स्थिति भी चिंताजनक बनी हुई है. घटना के बाद गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. ग्रामीणों के निशानदेही पर पुलिस ने एक महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मकई की फसल खा गई थी एक पक्ष की बकरी
  • दूसरे पक्ष ने शिकायत की तो महिला के साथ मारपीट
  • जब घर के बुजुर्ग शिकायत लेकर पहुंचे तो कर दिया हमला

झारखंड के गिरिडीह में एक बकरी ने खेत में घुसकर मकई की फसल खा ली. इस मामूली सी बात को लेकर हुए विवाद में दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष हो गया. इस दौरान दोनों ओर से लाठी-डंडे चले और तलवारबाजी भी हो गई. मारपीट की इस वारदात में एक बुजुर्ग की जान चली गई. जबकि आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए. जिनमें से तीन की हालत नाजुक बनी हुई है.

यह वारदात राजधनवार के घोड़थम्बा ओपी क्षेत्र के दोनाटांड गांव की है. जहां बीती रात दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष हो गया. सारा विवाद मंगलवार को तब शुरू हुआ, जब एक बकरी ने मकई की फसल खा ली. इस बात पर विवाद इस कदर बढ़ गया कि इस घटना में 60 वर्षीय शम्सुद्दीन अंसारी नामक बुजुर्ग को उसके पड़ोसियों ने लाठी, डंडे से पीट-पीट कर मार डाला. जबकि इस घटना में मृतक की पत्नी मरियम खातून, पुत्र-समशाद आलम, पुत्रवधु आशमा खातून व पोती रुकसार खातून के साथ भी बेरहमी से मारपीट की गई, जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए. सभी का इलाज रांची के रिम्स में चल रहा है. 

मृतक की पत्नी मरियम की स्थिति भी चिंताजनक बनी हुई है. घटना के बाद गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. ग्रामीणों की निशानदेही पर पुलिस ने एक महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. बताया गया कि मंगलवार की दोपहर को शम्सुद्दीन के खेत में लगी मकई की फसल को तालिब अंसारी की बकरी खा रही थी, जिसे पकड़ कर उसकी पुत्रवधु असमा खातून तालिब अंसारी के घर ले गई. इसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया और फिर मामला मारपीट में बदल गया. 

इसे भी पढ़ें-- रामगढ़ः पत्नी निकली पति की कातिल, मृतक के दोस्त के साथ था अवैध संबंध

तालिब के पुत्र-फैसल और आजाद अंसारी ने असमा के साथ मारपीट कर दी. शाम को शम्सुद्दीन बाप-बेटे दोनों मजदूरी करके वापस घर लौटे तो बहू ने इसकी जानकारी अपने ससुर व पति को दी. जिसके बाद उसके पति और ससुर ने इसकी जानकारी ग्रामीणों को दी और बहू के साथ फैसल और रियाज ने क्यों मारपीट की, ये पूछने तालिब के पास चले गए. जहां दोबारा दोनों पक्षों के बीच बात बढ़ गई. फिर से दोनों पक्ष के लोग मारपीट पर उतारू हो गए और एक दूसरे पर लाठियां भांजने लगे. जिससे दोनों पक्षों से महिला और बच्चों समेत करीब आठ लोग घायल हो गए. 

सूचना मिलने पर घोड़थम्बा ओपी और धनवार पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और सभी घायलों को उठाकर रेफरल अस्पताल ले गए. जहां प्राथमिक इलाज के बाद एक पक्ष के शम्सुद्दीन अंसारी उनकी पत्नी मरियम खातून, पुत्र समशाद आलम, बहू असमा खातून और पोती रुकसार खातून की स्थिति चिंताजनक होने पर उन्हें रांची रिम्स रेफर कर दिया गया. बताया जाता है कि परिजन देर रात करीब एक बजे सभी घायलों को लेकर रिम्स पहुंचे. इसी बीच शम्सुद्दीन की मौत हो गई.

ज़रूर सुनें-- दिल्ली पुलिस से कोर्ट क्यों वसूलेगा 25 हज़ार का जुर्माना?

इधर, शम्सुद्दीन की मौत की सूचना पर बुधवार की सुबह खोरीमहुआ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मुकेश कुमार महतो, जमुआ इंस्पेक्टर नवीन सिंह, धनवार थाना प्रभारी संदीप कुमार के अलावे घोरथम्भा ओपी प्रभारी रौशन कुमार फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और बारीकी से पूरे मामले की छानबीन करना शुरू कर दिया. इस दौरान पुलिस ने पांच खून लगी लाठी, एक रॉड, एक तलवार जब्त की है. इस संबंध में एसडीपीओ मुकेश कुमार महतो ने बताया कि मामले में फैसल अंसारी, रियाज अंसारी, फकीरा खातून और तालिब अंसारी को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस का कहना है कि दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.

(गिरिडीह से सूरज सिन्हा का इनपुट)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें