scorecardresearch
 

बिहारः पप्पू यादव को ले जा रहे पुलिस काफिले पर समर्थकों ने किया हमला, कई जगह बवाल

बिहार में पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद वहां पर तनाव की स्थिति बनी हुई है. गिरफ्तारी के बाद पुलिस टीम पप्पू यादव को पटना से लेकर मधेपुरा को निकली थी, लेकिन पूर्व सांसद को ले जा रही पुलिस टीम पर उनके समर्थको ने नेशनल हाईवे (NH) पर घेर लिया और हमला कर दिया.

जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद बवाल जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद बवाल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पप्पू समर्थकों ने NH पर पुलिस को रोकने की कोशिश की
  • समर्थक पुलिस की गाड़ियों के आगे लेटते और चढ़ते दिखे
  • काफी प्रयास बाद पुलिस टीम पप्पू यादव को लेकर निकल सकी

जन अधिकार पार्टी (JAP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी बिहार पुलिस के लिए मुसीबत बन गई है. पप्पू यादव के समर्थकों ने आज मंगलवार को पुलिस काफिले पर हमला कर दिया. समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प की भी खबर है.

बिहार के हाजीपुर में पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद भारी बवाल हो गया. पटना में गिरफ्तारी के बाद पुलिस टीम पप्पू यादव को पटना से लेकर मधेपुरा के लिए निकली थी लेकिन पप्पू यादव को ले जा रही पुलिस टीम को उनके समर्थकों ने नेशनल हाईवे (NH) पर घेर लिया और हमला कर दिया.

हाजीपुर में नेशनल हाईवे पर पप्पू यादव को ले जा रही पुलिस काफिले को समर्थकों ने बैरिकेटिंग लगा रोकने की कोशिश की. पुलिस की गाड़ियों के आगे समर्थक लेटते दिखे तो कई समर्थक पुलिस की गाड़ी के ऊपर चढ़ गए. 

14 दिन की न्यायिक हिरासत में पप्पू यादव

काफी मशक्कत के बाद पुलिस टीम पप्पू यादव को लेकर आगे निकल पाई. पप्पू यादव की गिरफ्तारी को लेकर उनके समर्थक जगह-जगह बवाल कर रहे हैं.  अब पप्पू यादव मधेपुरा पहुंच गए हैं और वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट के सामने पेश हुए हैं. पप्पू यादव ने अपनी तबियत का हवाला देते हुए जज से जेल न भेजने को गुहार लगाई. पप्पू यादव ने कहा कि उनकी तबियत खराब है, वो जेल जाने की स्थिति में नहीं हैं, उन्हें मेडिकल कॉलेज या जिला अस्पताल में भेज दिया जाए. लेकिन पप्पू यादव को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सुपौल के वीरपुर जेल भेजा गया है.

बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगाः पप्पू यादव

इससे पहले जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव को आज सुबह गिरफ्तार कर लिया गया. पप्पू यादव ने खुद ट्वीट करके गिरफ्तार करने का आरोप लगाया. उनका कहना था कि मुझे गिरफ्तार कर पटना के गांधी मैदान थाना लाया गया है. पिछले दिनों ही पप्पू यादव ने बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के एंबुलेंस को लेकर सवाल उठाया था.

इसे भी पढ़ें--- बिहार: गंगा में मिले शवों को JCB से गड्ढा खोदकर दफनाया, कर्मचारी बोले- करीब 80 बॉडी थीं
 

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने अपने एक और ट्वीट करके कहा था, 'कोरोना काल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं, PM साहब, CM साहब, दे दो फांसी, या, भेज दो जेल, झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं, लोगों को बचाऊंगा, बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा!'

पप्पू यादव की गिरफ्तारी का विरोध राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने भी किया है. पार्टी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने नीतीश कुमार की तुलना हिटलर से करते हुए कहा कि सरकार के खिलाफ उठने वाली आवाजों को दबाने की कोशिश की जा रही है.

लॉकडाउन उल्लंघन पर केस

गिरफ्तारी पर राज्य के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने अपनी ही सरकार को घेरा और सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कोई जनप्रतिनिधि अगर दिन-रात जनता की सेवा करे और उसके एवज में उसे गिरफ़्तार किया जाए तो ऐसी घटना मानवता के लिए खतरनाक है, ऐसे मामलों की पहले न्यायिक जांच हो तब ही कोई कारवाई होनी चाहिए नहीं तो जन आक्रोश होना लाज़मी है.

इससे पहले पूर्व सांसद पप्पू यादव को लॉकडाउन उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रुडी के सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस की पोल खुलने के बाद सारण के अमनौर में पप्पू यादव के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज किया गया था.

पप्पू यादव के खिलाफ अमनौर के अंचलाधिकारी ने लॉकडाउन उल्लंघन के मामले में रविवार को अमनौर थाना में एफआईआर दर्ज कराई थी. शिकायत में पप्पू पर विश्वप्रभा सामुदायिक केंद्र में काफिले के साथ पहुंचकर लॉकडाउन का उल्लंघन का आरोप लगाया गया. इससे पहले पिछले हफ्ते शनिवार को पप्पू यादव पर एंबुलेंस में तोड़फोड़ के आरोप में केस दर्ज किया गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें