scorecardresearch
 

फरीदाबाद: मिस्ड कॉल से शुरू प्यार, बनाया हनी ट्रैप का शिकार, फिरौती में मांगे 5 लाख, 3 गिरफ्तार

फरीदाबाद में पुलिस ने एक हनी ट्रैप रैकेट का भंडाफोड़ किया है. आरोपी, पीड़ित युवक को ब्लैकमेल कर 5 लाख रुपये मांग रहे थे. इस केस में एक महिला समेत अन्य 2 लोग गिरफ्तार हुए हैं.

लगातार सामने आ रहे हैं हनी ट्रैप के मामले. (सांकेतिक तस्वीर) लगातार सामने आ रहे हैं हनी ट्रैप के मामले. (सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • युवक को बंधक बनाकर परिजनों से मांगे पैसे
  • रेप के फर्जी मुकदमे में दी फंसाने की धमकी
  • पुलिस ने सॉल्व किया केस, 3 आरोपी गिरफ्तार

हरियाणा के फरीदाबाद जिले में पुलिस ने एक हनी ट्रैप रैकेट का भंडाफोड़ किया है. एक युवक को मिलने के बहाने बुलाकर उसकी कथित प्रेमिका और प्रेमिका के चचरे भाई ने बंधक बना लिया. दोनों आरोपियों ने युवक को रेप के मामले में फंसाने की धमकी दी और 5 लाख रुपये की परिजनों से फिरौती मांगी. परेशान होकर परिजनों ने तिंगाव पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई. 

दरअसल करीब एक महीने पहले वेल्डिंग की दुकान चलाने वाले एक 22 वर्षीय युवक को लुधियाना से एक अनजान लड़की का मिस्ड कॉल आया. लड़के ने जब कॉल किया तो वह लड़की की बातचीत से प्रभावित हो गया. मोबाइल से शुरू हुई बातचीत सोशल मीडिया तक पहुंच गई. दोनों एक-दूसरे के अच्छे दोस्त कथित तौर पर बन गए. 

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप रास नहीं आई तो लड़की ने लड़के को मिलने के लिए लुधियाना बुला लिया. 10 जुलाई को लड़का घर से बाहाना बनाकर लुधियाना पहुंचा. आरोपी लड़की उसे अपने घर ले आई. कमरे में बैठाकर युवक से बातचीत की, उसके बाद युवक को लड़की के चचरे भाई और एक अन्य आरोपी ने मिलकर दोनों को एक कमरे में बंद कर दिया.

राजस्थान: हनी ट्रैप में फंसाकर सरकारी टीचर से वसूले 23 लाख रुपये, मुख्य आरोपी गिरफ्तार  

परिजनों से मांगी 5 लाख की फिरौती

जब लड़का कमरे में बंद हो गया तो उसे रेप के झूठे केस में फंसाने की धमकी आरोपी देने लगे. लड़की के सह आरोपियों ने लड़के के परिजनों को फोन किया और उसे बंधक बना लेने की बात बताई. परिजनों से 5 लाख की फिरौती रकम भी मांग ली.

फरीदाबाद में परेशान परिजन स्थानीय थाने पहुंचे. पूरे प्रकरण की जानकारी होने के बाद पुलिस हरकत में आई. पुलिस ने लिखित शिकायत दर्ज की और आरोपियों की तलाश में जुट गई. इस केस की जांच के लिए 5 लोगों की टीम गठित की गई. यह टीम लुधियाना भेजी गई.

ऐसे हुई आरोपियों की गिरफ्तारी

लुधियाना पहुंचने के बाद पुलिस ने साइबर डिपार्टमेंट की मदद से आरोपियों की लोकेशन ट्रेस की और उन्हें धर दबोचा. आरोपी लुधियाना में ईश्वर कॉलोनी, फोगल में रह रहे थे. तीनों आरोपियों की उम्र 20 से 23 वर्ष के करीब है. पुलिस के साथ हुई पूछताछ में आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. 
 

कैसे रची फंसाने की साजिश?

आरोपी अजय का कहना है कि वह युवती का चचेरा भाई है. जब वह घर आया तो युवक, बहन के साथ कमरे में था. आरोपी ने योजना के मुताबिक अपने सहयोगी अजय को बुलाकर लड़के को कमरे में बंद कर दिया. युवक को फिर झूठे केस में फंसाने की धमकी भी दी. पीड़ित आरोपियों के सामने गिड़गिड़ाने लगा. 

दोनों ने परिजनों को फोनकर सुरक्षित वापस भेजने के नाम पर 5 लाख रुपये की फिरौती मांगी. दोनों आरोपी दिहाड़ी मजदूर हैं. आरोपियों के कब्जे से युवक का एटीएम कार्ड, आधार, पेन कार्ड और फोन बरामद कर लिया गया है. कोर्ट ने आरोपियों को 2 दिनों के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×