scorecardresearch
 

हाथरस गैंगरेप: आरोपी की मां ने की पारिवारिक झगड़े की बात, कहा- बेटे को फंसाया जा रहा

आजतक से बातचीत करते हुए आरोपी रामू की मां ने कहा कि दोनों परिवार के बीच में बीते दो दशक से झगड़ा चल रहा था. उन्होंने कहा कि उनके परिवार के दो सदस्यों को SC/ST एक्ट के तहत जेल भी भेजा जा चुका है.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोपी की मां ने की पारिवारिक झगड़े की बात
  • पीड़िता के परिवार ने सभी आरोपों को नकारा
  • रामू की मां बोली- मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है

हाथरस की बेटी से दरिंदगी करने वाले 4 आरोपियों में से एक रामू की मां राजवती देवी ने कहा है कि उनके बेटे को इस केस में फंसाया जा रहा है. राजवती देवी ने ये भी कहा कि इस पूरे केस के पीछे पारिवारिक झगड़ा है. आजतक से बातचीत करते हुए आरोपी रामू की मां ने कहा कि दोनों परिवार के बीच में बीते दो दशक से झगड़ा चल रहा था. उन्होंने कहा कि उनके परिवार के दो सदस्यों को SC/ST एक्ट के तहत जेल भी भेजा जा चुका है.

राजवती देवी ने कहा कि दूसरे आरोपी संदीप के पिता नरेंद्र और तीसरे आरोपी रवि पर 2001 में पीड़िता के दादा पर हमले करने का भी आरोप लगा था. राजवती देवी ने कहा कि पीड़िता के दादा ने हमारे परिवार के दो सदस्यों को जेल भेजने के लिए खुद को चोट पहुंचाई थी. हालांकि, राजवती देवी ने ये भी कहा कि उसके बाद झगड़े की कोई घटना नहीं हुई.

राजवती देवी ने पुलिस पर भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि मेरे बेटे को गैंगरेप के मामले में फंसाया गया है. जब ये घटना हुई तब मेरा बेटा रामू नौकरी कर रहा था. कोई भी उसके सीनियर से पूछ सकता है. वे बता देंगे कि वो वहां पर था. वो सुबह 7.30 बजे नौकरी के लिए निकल जाता है.  

इस वारदात को अंजाम देने वाले चार आरोपियों में से तीन रामू, संदीप और रवि रिश्तेदार हैं और पीड़िता के घर से 100 मीटर की दूरी पर ही उनका घर है. वहीं, पीड़िता के परिवार ने कहा कि इस घटना का पुराने पारिवारिक झगड़े से कोई लेना-देना नहीं है और घटना पूर्व नियोजित थी. पीड़िता के भाई का कहना है आरोपी संदीप मेरी बहन से बात किया करता था. मेरी बहन आरोपियों से डरती थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें